CM योगी का आदेश, इस तारीख से शुरू हो स्कूल-कॉलेज और विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन क्लास

Smart News Team, Last updated: Sun, 16th May 2021, 7:14 AM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कैबिनेट मंत्रियों के साथ बैठक की जिसमें उत्तर प्रदेश में कक्षा 9वीं से 12वीं और विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन कक्षाएं शुरू करने का फैसला किया गया. इसी के साथ योगी सरकार ने कोरोना लॉकडाउन के दौरान गरीबों को भरत पोषण भत्ता देने का फैसला भी लिया है.
सीएम योगी गरीबों को एक माह के लिए 1000 रुपये भरण पोषण भत्ता देंगे

लखनऊ. कोरोना की दूसरी लहर में जबसे उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने शुरू हुए तभी योगी आदित्यनाथ सरकार ने स्कूल और कॉलेजों में छुट्टियां घोषित कर दी थी. यहां तक की ऑनलाइन क्लास भी बंद थी. वहीं शनिवार को कैबिनेट मीटिंग में फैसला लिया गया कि ऑनलाइन कक्षाएं शुरू कर दी जाएं. उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि सरकार ने 20 मई से प्राइमरी कक्षाओं को छोड़कर सभी की ऑनलाइन क्लास शुरू करने का फैसला किया है. वर्चुअल कैबिनेट मीटिंग में इसी के साथ कई अन्य जरूरी फैसले लिए गए.

गौरतलब है कि शनिवार को हुई कैबिनेट मीटिंग में यूपी में कोरोना लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला भी लिया गया. कोरोना कर्फ्यू सोमवार 24 मई की सुबह 7 बजे तक बढ़ा दिया गया है. सरकार ने कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने का आदेश दिया है. लॉकडाउन के दौरान सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की दुकाने खोलने के निर्देश दिए गए हैं.

योगी आदित्यनाथ सरकार का फैसला- यूपी में 24 मई तक बढ़ाया गया कोरोना लॉकडाउन

इस बैठक में एक अहम फैसला और लिया गया. जिसके तहत गरीबों को प्रति यूनिट 5 किलो निःशुल्क अनाज दिया जाएगा. जिसका फायदा सीधे उत्तर प्रदेश के गरीब और कमजोर वर्गों के लोगों को मिलेगा. इससे यूपी की लगभग 15 करोड़ की जनसंख्या लाभान्वित होगी. इतना ही नहीं योगी सरकार दैनिक रूप से कार्य करने वाले श्रमिकों को एक माह के लिए 1,000 रुपये का भरण-पोषण भत्ता देने जा रही है. जिससे रोज काम करने वाले ठेला, खोमचा, रेहड़ी, दिहाड़ी मजदूरों, रिक्शा चालक, नाविकों, नाई, धोबी, मोची, हलवाई आदि जैसे परम्परागत काम करने वालों को राहत मिलेगी. 

CM योगी का आदेश- कोरोना मरीजों से ज्यादा पैसे वसूले तो सीज होंगे अस्पताल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें