निजी सचिव के आत्महत्या कोशिश मामले पर CM योगी का सख्त रवैया, अधिकारियों को दिया ये निर्देश

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Thu, 2nd Sep 2021, 9:06 AM IST
  • उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ ने बापू भवन, सचिवालय समेत अन्य संवेदनशील कार्यालयों में हथियार ले जाने पर पूरी तरह रोक लगा दी हैं. साथ ही इन दफ्तरों में पान,गुटका समेत अन्य मादक पदार्थ पर सख्ती से प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिया है. सीएम योगी ने ये आदेश बापू भवन में निजी सचिव के आत्महत्या की कोशिश करने के मामले को संज्ञान में लेते हुए निर्देश जारी किया हैं.
निजी सचिव के आत्महत्या कोशिश मामले पर CM योगी का सख्त रवैया अधिकारियों को दिया ये निर्देश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बापू भवन में निजी सचिव के आत्महत्या करने की कोशिश के मामले को संज्ञान में लिया हैं. साथ ही उन्होंने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है. जिसके अनुसार अब बापू भवन समेत अन्य सभी सरकारी कार्यालयों में हथियार ले जाने पर रोक लगा दी है. इस आदेश के चलते अब सरकारी कार्यालय में किसी भी तरह का असहला नहीं ले जाया जा सकेगा. दरअसल बापू भवन में निजी सचिव के आत्महत्या के प्रयास करने के बाद बापू भवन समेत अन्य सरकारी दफ्तरों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल उठे थे. जिसे देखते हुए सीएम योगी ने यह सख्त आदेश जारी किया हैं. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस आदेश के साथ ही सचिवालय समेत अन्य संवेदनशील शासकीय कार्यालयों की सुरक्षा को और भी ज्यादा पुख्ता करने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही उन्होंने अपर मुख्य सचिव गृह, एडीजी कानून-व्यवस्था और सचिवालय प्रशासन के साथ सुरक्षा व्यवस्था की गहन समीक्षा करने का निर्देश दिया है. साथ ही उस समीक्षा की रिपोर्ट भी जल्द प्रस्तुत करने के लिए कहा है. 

उत्तर प्रदेश के इन पांच शहरों में खोले जाएंगे आश्रम पद्धति स्कूल, इतने करोड़ की होगी लागत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके साथ ही अन्य कई निर्देश जारी किए है. जिसे अधिकारियों को शासकीय कार्यालयों में सख्ती से पालन करना होंगे. जिसके अनुसार शासकीय दफ्तरों में पान-मसाला, गुटका, तम्बाकू समेत अन्य मादक पदार्थ को सख्ती से प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया है. साथ ही दफ्तरों के बाह्य और आंतरिक परिसर में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए. साथ ही उन्होंने महिला कर्मियों की सुविधाओं पर विशेष ध्यान देने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी किया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें