किसानों के नुकसान की भरपाई करेगी योगी सरकार, बाढ़ में बर्बाद फसल का देगी मुआवजा

Smart News Team, Last updated: Wed, 18th Aug 2021, 8:15 PM IST
  • मौजूदा समय में उत्तर प्रदेश के कई जिले बाढ़ की चपेट में है. और इन दिनों यूपी में सदन की कार्यवाही भी चल रही है. इस मानसून सत्र में विपक्षी नेता सरकार को घेरने में जुटे हुए हैं और बाढ़ पीड़ित किसानों के मसले बहस करने की मांग कर रहे हैं इसके साथ ही उनके बर्बाद हुए फसलो के लिए मुआवजे की बात प्रमुखता से उठा रहे हैं . बता दें कि अगले वर्ष यूपी में विधानसभा चुनाव भी होने वाली है.
किसानों के नुकसान की भरपाई करेगी योगी सरकार, बाढ़ में बर्बाद फसल का देगी मुआवजा(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार में बतौर जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने बुधवार को विधानसभा में कहा सूबे में बाढ़ से किसानों की जो फसलें बर्बाद हुई हैं उसका सर्वेक्षण कराया जा रहा है और इसका मुआवजा दिया जाएगा. मानसून सत्र के दूसरे बहुजन समाज पार्टी के नेता शाह आलम और उमाशंकर सिंह ने मांग की कि कार्य स्‍थगन प्रस्‍ताव लाकर सदन की कार्यवाही रोक दी जाए और बाढ़ से डूबे किसानो के फसलो की बर्बादी पर चर्चा करायी जाय. नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने भी बसपा सदस्यों की मांग को बल देते हुए दोहराया कि बाढ़ की वजय से किसानों की फसल बबार्द हुई उनको मुआवजा दी जाए. इसके साथ हीं उन्होंनें सपा सरकार में बाढ़ पीड़ितों को दिए गए राहत कार्यों को गिनाते हुए मौजूदा सरकार के राहत कार्यों को कमतर बताया.

महेंद्र सिंह ने कहा कि अतिवृष्टि के बाद मध्यप्रदेश और राजस्थान से 25 लाख क्यूसेक पानी अचानक उत्तर प्रदेश की चंबल नदी में छोड़ दिया गया, लेकिन राज्य सरकार के बेहतर प्रबंधन के चलते न कोई बांध टूटा और न ही कोई घटना हुई. उन्होंने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के बाढ़ प्रबंधन को ऐतिहासिक बताया और कहा बाढ़ से बचाव के लिए अब तक इतना बेहतर प्रबंधन कभी नहीं किया गया. आगे उन्होंनें कहा कि इस वर्ष सिर्फ 12 हजार हेक्टेयर जमीन बाढ़ से प्रभावित हुए हैं जबकि साल 2016 में 15 लाख हेक्टेयर जमीन बाढ़ से प्रभावित हुए थे. 

UP में BJP का मुस्लिम दांव, सभी जिलों में करेगी प्रबुद्ध अल्पसंख्यक सम्मेलन

बता दें कि सदन में पहले हीं बसपा के उमाशंकर सिंह ने कहा कि बाढ़ से सैकड़ों एकड़ फसल बर्बाद हो गई और बहुत से मकान गिर गये. सरयू और गंगा नदी उफान पर हैं और जनहित के इस मामले पर चर्चा बहुत जरूरी है. जवाब में जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि जिन किसानो की फसल बाढ़ से बर्बाद हुई हैं, उसका सर्वेक्षण कराया जा रहा है और उन्हें मुआवजा दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें