योगी सरकार का फैसला, यूपी में 1 जून से शुरू होगा कोरोना वैक्सीनेशन अभियान

Smart News Team, Last updated: Sat, 22nd May 2021, 11:58 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में फैले कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए योगी सरकार ने कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू करने का फैसला किया है. इस अभियान के लिए तैयारियां की जा रही हैं और इसके अलावा सभी जिलों में न्यायिक अधिकारियों और मीडिया कर्मियों के लिए सभी जिलों में विशेष कैंप लगाकर टीकाकरण कराया जाएगा.
सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में फैले कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए योगी सरकार ने एक जून से राज्य के सभी जिलों में 18 से 44 साल की उम्र के लोगों के लिए कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू करने का फैसला किया है. इस अभियान के लिए तैयारियां की जा रही हैं और इसके अलावा सभी जिलों में न्यायिक अधिकारियों और मीडिया कर्मियों के लिए सभी जिलों में विशेष कैंप लगाकर टीकाकरण कराया जाएगा. शनिवार की रात को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह निर्णय लिया है. हाल में लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, कानपुर, आगरा, वाराणसी, प्रयागराज समेत 23 जिलों में 18 से 44 साल की उम्र तक के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है.

उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में टेस्टिंग और ट्रेसिंग के जरिए कोरोना की तीव्रता दिनों-दिन कमी देखने को मिल रही है. नए केसों की संख्या और पॉजिटिविटी दर में लगातार गिरावट जारी है, वहीं रिकवरी दर बढ़कर 93.2 फीसदी हो गई है. इससे पहले, 30 अप्रैल माह में 03 लाख 10 हजार 783 कोरोना के नए मरीज आए थे और रिकवरी रेट 74.1 फीसद था.

होम आइसोलेशन में कोरोना मरीज के इलाज का क्लेम नहीं दे रहीं बीमा कंपनियां, जानें

इस संख्या से ताजा स्थिति की तुलना की जाए तो महज 21 दिनों में एक्टिव केस में 72 फीसदी से अधिक की गिरावट हुई और वर्तमान में 94,482 कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है, वहीं रिकवरी रेट 19.1 फीसदी की बेहतरी के साथ अब 93.2 फीसदी हो गई है. प्रदेश में 24 अप्रैल को सबसे ज्यादा 38,055 नए मामले सामने आए थे और तब से मामलों में गिरावट आ रही है. 21 मई को प्रदेश में 03 लाख से ज्यादा टेस्टिंग की गई थी जिसमें मात्र 6,046 कोरोना मरीजों के संक्रमित होने की पुष्टि की गई थी.

CM सोशल मीडिया टीम के कर्मचारी पार्थ श्रीवास्तव सुसाइड मामले में एफआईआर दर्ज, सीनियर पर उत्पीड़न का आरोप

30 अप्रैल को हुई टेस्टिंग में हर 100 सैम्पल में से 14.1 फीसदी सैम्पल पॉजिटिव पाए गए थे, लेकिन अभी की स्थिति के अनुसार पॉजिटिविटी रेट महज 2.1 फीसद रह गई है. अपर मुख्य सचिव सूचना एवं जनसंपर्क नवनीत सहगल ने इस ट्रेंड को उत्साहवर्धक बताते हुए कहा कि 'पिछले तीन सप्ताह में हफ्ते में राज्य के टीपीआर में लगभग 13 फीसदी की कमी आई है जोकि एक अच्छा संकेत है'.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें