UP सरकार का सभी जिलाधिकारियों को निर्देश-किसी भी हाल में नदी में शव ना बहाए जाएं

Smart News Team, Last updated: Fri, 14th May 2021, 10:25 PM IST
  • उत्तर प्रदेश सरकार नें सभी जिलाधिकारियों को निर्दश दिया गया है कि मृतकों के शव को किसी भी हालत में नदी या अन्य जल प्रवाहों में बहाने नहीं दिया जाए. पंचायती राज और नगर विकास विभाग की ओर से पर्याप्त धनराशि दी गई है. इसका उपयोग शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए किया जाए.
यूपी में शासन ने दिखाई सख्ती, अब नदियों में शवों को बहाने नहीं दिया जाएगा

लखनऊ. बीते दिनों में कोरोना मृतकों के शवों को गंगा नदीं में बहाए जाने के कई मामले उत्तर प्रदेश और बिहार राज्य से सामने आए है. जिसके बाद यूपी सरकार ने सख्ती दिखाते हुए डीएम को निर्देश दिए है कि किसी भी हालत में शवों को नदी और किसी अन्य जल प्रवाह में ना बहाने दिया जाए. शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए पंचायती राज और नगर विकास विभाग की ओर से पर्याप्त धनराशि दी गई है. इस धनराशि का उपयोग करके मृतकों का अंतिम संस्कार किया जाए. इस कार्य में नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान भी अपना सहयोग दे. इस संबंध में अपर मुख्य सचिव पंचायती राज व नगर विकास मनोज कुमार सिंह ने निर्देश जारी किए है.

बता दें कि पिछले दिनों में बिहार के बक्सर और पटना से शवों को गंगा नदी में बहाए जाने का मामला सामने आया था. बक्सर जिले में बड़ी संख्या में शवों को गंगा नदी से बरामद किया गया था. जिसको लेकर बक्सर जिला प्रशासन और बिहार सरकार का कहना था कि ये सभी शव यूपी से बहकर बिहार में आए थे. वहीं यूपी के अफसरों का कहना है कि यूपी को इस तरह से दोष देना गलत है. जब इन शवों को बिहार से बरामद किया गया है. तो इसकी जांच करके उचित कार्रवाई करने की जिम्मेदारी भी बिहार सरकार की है.

UP बोर्ड में अब NCC भी वैकल्पिक विषय ले सकेंगे 10वीं-12वीं के छात्र, फुल डिटेल्स

वहीं शवों का दाह संस्कार करने की जगह उन्हें गंगा नदी की रेत में दफनाने का मामला उन्नाव से हाल ही सामने आया है. जानकारी के अनुसार कोरोना महामारी के दौरान घाटों पर दाह संस्कार करने के लिए लोगों की लंबी लाइन लगी है. वहीं कुछ जगहों पर लकड़ियों का भी अभाव है. इस कारण इन शवों का अंतिम संस्कार करने के बजाय इन्हें नदी किनारे दफनाया जा रहा है. इसके अलावा लोगों का यह भी कहना है कि क्रियाकर्म में ज्यादा खर्चा आने और लकड़ियों के मंहगा होने के कारण लोग ऐसा कर रहे है. इस संबंध में उन्नाव के डीएम का कहना है कि मामले की पूरी जांच करने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी.

लखनऊ: खून की कमी से जूझ रहे अस्पतालों के ब्लड बैंक, डोनेशन कैंप में भारी कमी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें