लखनऊ: भ्रष्टाचार पर CM योगी की मंत्रियों को हिदायत- स्टाफ और आसपास नजर रखें

Smart News Team, Last updated: 13/09/2020 11:04 AM IST
  • शनिवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य मंत्रियों और स्वतंत्र प्रभार मंत्रियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि आस पास रहने वाले लोगों के कारण ही छवि खराब करने वाली घटनाएं होने की संभावना बनी रहती है. इसलिए इसका पूरा ध्यान रखें कि कोई भी अनुचित फायदा ना उठाएं.
यूपी सीएस योगी आदित्यनाथ

लखनऊ. यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों को अपने निजी स्टाफ और अपने आस पास रहने वाले लोगों पर सतर्क नजर रखने की हिदायत दी है. साथ ही कहा कि सरकार के कामों को जनता तक ले जाया जाए. यह बाते मुख्यमंत्री ने शनिवार को राज्य मंत्रियों और स्वतंत्र प्रभार के राज्य मंत्रियों के साथ बैठक के दौरान कही. इस बैठक के दौरान उन्होंने जिलों में प्रशासनिक कामकाज का फिडबैक भी लिया. सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान राज्य मंत्रियों से कहा कि वे अपनी और सरकार की छवि को लेकर सतर्क रहें. उन्होंने कहा कि आस पास रहने वाले लोगों के कारण ही छवि खराब करने वाली घटनाएं होने की संभावना बनी रहती है. इसलिए इसका पूरा ध्यान रखें कि कोई भी अनुचित फायदा ना उठाएं. 

PM मोदी पर फेसबुक कमेंट करने पर जूनियर इंजीनियर सस्पेंड, MLA बनना चाहता है JE

बता दें कि हाल ही में पशुधन फर्जीवाड़े में राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद के निजी प्रधान सचिव रजनीश दीक्षित, निजी सचिव धीरज कुमार देव, इलेक्ट्रानिक न्यूज चैनल के पत्रकार आशीष राय, अनिल राय, कथित पत्रकार एके राजीव, रूपक राय और उमाशंकर के खिलाफ जांच शुरू हुई है. इस फर्जीवाड़े में जांच की गई तो इन सब लोगों का नाम सामने आया. ऐसे में मुख्यमंत्री ने इसी संदर्भ में अपने स्टाफ और ईर्द गिर्द के लोगों पर नजर रखने की हिदयात दी है. ताकि किसी ऐसे मामले से सरकार की बदनामी ना हो और भ्रष्टाचार पर भी अंकुश लगे.

Hindustan Impact: यूपी पशुधन घोटाले में DIG दिनेश दूबे और अरविंद सेन सस्पेंड

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 से अपनी सुरक्षा और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए राज्य मंत्री अपने प्रभार वाले जिलों में जाए और कोरोना संकट के दौरान सरकार से दिए बजट के उपयोग की जानकारी लें. इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का संकट अभी थमा नहीं है. सरकार के कामों को जनता के बीच ले जाने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग बाकी सतर्कता बरतें. उन्होंने कहा कि कोरोना संकट की वजह से विकास कार्य और आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुई हैं, लेकन सरकार ने अब ज्यादा तेजी से इस पर काम शुरू किया है.

प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को घेरा, पीपीई किट घोटाले पर कांग्रेस का प्रदर्शन

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि सभी मंत्री अपने प्रभार वाले जिलों में विकास कार्य पर पैनी निगाह रखें और समन्वय बनाते हुए इस दिशा में काम करें. इमें बैठक में कई राज्यमंत्री विभिन्न कारणों से उपस्थित नहीं थे. बैठक में राज्यमंत्रियों ने भी अपने विभाग के कामकाज और अपने क्षेत्र की जनता की समस्याओं को मुख्यमंत्री के सामने रखा. राज्यमंत्रियों ने कहा कि गलत बिजली बिलों के कारण गांव के उपभोक्ता परेशान हैं. वहीं बिजली कनेक्शन मी जांच प्रक्रिया में भी दिक्कते बढ़ रही हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें