यूपी में हर संदिग्ध का कोविड टेस्ट करें, बच्चों के लिए हों खास इंतजाम: CM योगी

Smart News Team, Last updated: Tue, 11th May 2021, 6:47 PM IST
  • सीएम योगी ने टीम-9 के साथ मंगलवार को हुई बैठक में हर संदिग्ध का कोविड टेस्ट कराने का निर्देश दिया है. साथ ही बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर खास इंतजाम करने को भी कहा है. इसके अलावा उन्होंने जिला अस्पतालों में डॉक्टर, मेडिसिन व चिकित्सीय उपकरण की उपलब्धता कराने को भी कहा है.
सीएम योगी ने कोरोना काल में व्यवस्थाओं को लेकर टीम 9 के साथ की बैठक

लखनऊ. कोरोना के कहर को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी ने मंगलवार को टीम 9 के साथ कोविड संबंधित व्यवस्थाओं को लेकर बैठक की. इस बैठक में उन्होंने निर्देश दिए कि हर संदिग्ध व लक्षणयुक्त व्यक्ति का एंटीजन टेस्ट कराया जाए और आरआरटी टीम की संख्या भी बढ़ाई जाए. विशेषज्ञों के आकलन को देखते हुए उन्होंने सभी जिलों में बच्चों के स्वास्थ्य के लिए विशेष व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया है. जिसके तहत उन्होंने हर जिला अस्पताल में न्यूनतम 10-15 बेड, मेडिकल कॉलेज में 25-30 बेड और मंडल मुख्यालय में न्यूनतम 100 बेड की क्षमता वाले पीडियाट्रिक आईसीयू तैयार कराने को कहा है.

सीएम योगी ने बैठक के दौरान सभी जिला अस्पतालों में जरूरी दवाईयां एवं चिकित्सीय उपकरण की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का भी निर्देश किया है. साथ ही डॉक्टरों एवं अन्य मेडिकल स्टाफ का प्रशिक्षण भी कराने को कहा है. इसके अलावा उन्होंने भविष्य की चुनौतियां को देखते हुए चिकित्सीय मानव संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए मेडिकल व पैरामेडिकल अंतिम वर्ष के छात्र, इंटर्न, प्रशिक्षण पूरा कर चुके डॉक्टर और सेवानिवृत्त लोगों की सेवाएं लेने को कहा है. इसके लिए एक सप्ताह के अंदर ही चयन व नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी की जाएगी. इसकी विस्तृत समीक्षा की जिम्मेदारी चिकित्सा शिक्षा मंत्री को दी गई है.

थाइलैंड युवती मौत केस: भापजा MP के PA ने तीन सपा नेताओं के खिलाफ दर्ज कराई FIR

इसके अलावा सीएम ने निगरानी समिति को होम आइसोलेटेड मरीजों व लक्षणयुक्त संदिग्ध लोगों को मेडिकल किट प्रदान करने के साथ ही उनका नाम और फोन नंबर आइसीसीसी को उपलब्ध कराने को कहा है. साथ ही इसकी एक कॉपी जिलाधिकारी के माध्यम से स्थानीय जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध कराने को कहा है. जिससे वे सुविधा प्राप्त करने वाले लोगों से संवाद करने के साथ ही क्रॉस वेरिफिकेशन भी कर सके. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा है कि सभी जिलों में उपलब्ध वेंटिलेटर व ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्रियाशील होना जरूरी है. अगर इनके क्रियाशील न होने की सूचना प्राप्त होगी तो ऐसे में जवाबदेही संबंधित डीएम व सीएमओ की होगी.

मजदूरों के लिए शुरू 8433 हेल्पडेस्क, कोरोना संक्रमित होने पर मिलेगी दवा और ऑक्सीजन

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें