CM योगी का आदेश- सभी कोरोना अस्पतालों में तैयार किए जाएं पोस्ट कोविड वार्ड

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 7:52 PM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया कि सभी डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल में 'पोस्ट कोविड वार्ड' तैयार किए जाएं. साथ ही महिलाओं व बच्चों के इलाज के लिए लखनऊ के लोकबंधु अस्पताल को मदर एंड चाइल्ड सेंटर के रूप में तैयार कराया जाए.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में फैले कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सीएम योगी लगातार स्वास्थ्य व्यवस्थाओं में सुधार के लिए काम के रहे हैं. इसी संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सभी डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल में 'पोस्ट कोविड वार्ड' तैयार किए जाएं. यहां हर बेड पर ऑक्सीजन की व्यवस्था हो. इन मरीजों के चिकित्सकीय उपचार के साथ-साथ भोजन के लिए भी समुचित प्रबन्ध किए जाएं. साथ ही महिलाओं व बच्चों के इलाज के लिए लखनऊ के लोकबंधु अस्पताल को मदर एंड चाइल्ड सेंटर के रूप में तैयार कराया जाए.

मुख्यमंत्री में आगे कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत खाद्यान्न वितरण के लिए राशन की दुकानों पर एक नोडल अधिकारी तैनात किया जाए. मुख्यमंत्री ने मंगलवार को टीम-9 के साथ बैठक में यह निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके लोगों की चिकित्सीय निगरानी की जरूरत पड़ रही है. ऐसे में कोविड उपचार के साथ-साथ पोस्ट कोविड मेडिकल समस्याओं के ट्रीटमेंट के लिए व्यवस्था जरूरी है.

CM योगी के अधिकारियों को निर्देश, केंद्र को भेंजे DRDO की एंटी कोविड दवा 2DG मंगाने के लिए पत्र

सीएम योगी ने कहा कि सभी मेडिकल कालेजों में 100 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू (पीकू) वार्ड तैयार किया जाए. चिकित्सा शिक्षा विभाग को बीआरडी मेडिकल कालेज एवं केजीएमयू तथा स्वास्थ्य विभाग को इन्सेफ्लाइटिस से प्रभावित जिलों में पीकू की स्थापना का अनुभव है. सभी पीडियाट्रिशियन, टेक्नीशियन्स, पैरामेडिकल स्टाफ का प्रशिक्षण कराया जाए. आशा वर्कर व आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों की भी चरणबद्ध ट्रेनिंग कराई जाए.

लखनऊ: युवक ने घर में घुसकर दो बहनों से की छेड़छाड़ और मारपीट, मामला दर्ज

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि जीरो वेस्टेज को ध्यान में रखकर पूरी कार्ययोजना के साथ टीकाकरण का काम कराया जाए. वैक्सीनेशन का कार्य सुचारु ढंग से सभी टीकाकरण केंद्रों में चलाने के लिए एक महीने की कार्ययोजना पहले से होनी चाहिए. केंद्र पर वेटिंग एरिया के साथ ही ऑब्जर्वेशन एरिया की व्यवस्था भी होनी चाहिए. प्लानिंग के साथ जिनका वैक्सीनेशन होना है, उन्हें ही सेंटर पर बुलाया जाए. सीएम ने कहा कि ग्राम्य विकास विभाग, नगर विकास विभाग व आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स विभाग कामन सर्विस सेंटर (सीएससी) को प्रभावी ढंग से एक्टिवेट करें.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें