सीएम योगी का निर्देश- प्रत्येक जिलें में 200 और कोविड बेडों की संख्या को बढ़ाएं

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Apr 2021, 12:48 PM IST
  • यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के प्रकोप को देखते हुए प्रदेश में कोविड बेडों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया है. उन्होंने राज्य के प्रत्येक जिले में 200 और कोविड बेडों को बढ़ाने के लिए कहा है.
सीएम योगी का निर्देश- प्रत्येक जिलें 200 और कोविड बेडों की संख्या को बढ़ाया जाए

लखनऊ. कोरोना के कहर को देखते हुए उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में कोविड बेडों की संख्या में बढ़त की जा रही है. इस संबंध में सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि सभी जिलों में और 200 कोविड बेडों की संख्या बढ़ाई जाए. इसके अलावा यूपी सरकार ने आदेश जारी किया है कि ऐसे लोग जिनकी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आनी बाकी है. लेकिन अन्य प्रकार की जांच में कोरोना संक्रमण के लक्षण प्राप्त होते है, तो इन लोगों का कोविड उपचार शुरू कर दिया जाएगा. इसी प्रकार से अस्पतालों में भर्ती कोविड-19 के मरीज के स्वस्थ होने पर उन्हें घर जाने की अनुमति डॉक्टरों के आश्वस्त होने पर ही मिलेगी.

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि कोरोना का उपचार करने के लिए राज्य में पर्याप्त मात्रा में जरूरी उपकरण एवं मेडिसिन उपलब्ध है. अभी तक प्रदेश में कुल 3,82,66,474 सैम्पल का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है. जिसमें से आरटीपीसीआर के माध्यम से करीब 93,947 सैम्पलों का टेस्ट किया गया है. राज्य में कोरोना टेस्टिंग की क्षमता को निरंतर बढ़ाया जा रहा है. वहीं 45 से अधिक उम्र वाले लोगों का कोविड वैक्सीनेशन किया जा रहा है.

देशभर में कोरोना मरीजों की जान बचाएगी ऑक्सीजन एक्सप्रेस, ग्रीन कॉरिडोर की तैयारी

उन्होंने बताया कि मोहल्ला/ग्रामीण समिति बाहर से राज्य में आने वाले लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवाते हुए उनकी कोरोना जांच करवाए. यदि बाहर से प्रदेश में आने वाले किसी व्यक्ति में कोविड के लक्षण है तो ऐसे में उसे 14 दिन घर में रहना होगा. वहीं बिना लक्षण वाले लोगों को 7 दिन घर में बिताना जरूरी है. राज्य में बाहर से आए व्यक्ति की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उसे आवश्यकता के अनुसार अस्पताल या होम आइसोलेशन में रखा जाएगा.

लखनऊ में कोरोना रोकने को व्यापारियों ने लगाया लॉकडाउन, कब बंद होगा बाजार

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें