CM योगी ने बताया- UP में पर्याप्त है खाद, कहा- किसानों को नैनो यूरिया इस्तेमाल के लिए कर रहे जागरूक

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 8th Sep 2021, 11:18 AM IST
  • यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में उर्वरक की उपलब्धता को लेकर ट्वीट कर पीएम मोदी को धन्यवाद दिया. सीएम योगी ने ट्वीट में तरल यूरिया के उपयोग को लेकर लिखा कि प्रदेश में दानेदार यूरिया के स्थान पर तरल यूरिया के उपयोग के लिए जागरूक किया जा रहा है.
CM योगी ने बताया किसानों को नैनो यूरिया इस्तेमाल के लिए कर रहे जागरूक

लखनऊ. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध करवाने के ट्वीट करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया. सीएम योगी ने लिखा कि प्रदेश में उर्वरक की पर्याप्त मात्रा है और सभी किसानों तक आसानी से उर्वरक पहुंच रही है. वहीं, सीएम योगी ने किसानों को तरल नैनो यूरिया के लिए प्रोत्साहित और जागरूक करने के बारे में भी जानकारी दी.

तरल यूरिया के लिए लगातार किसानों को किया जा रहा जागरूक

सीएम योगी ने ट्वीट किया कि आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में प्रदेश में खाद की पर्याप्त उपलब्धता है. वर्ष 2021 में 53 लाख मी. टन उर्वरक उपलब्ध करकर 36.76 लाख मी. टन का वितरण किया गया है. वहीं, नैनो यूरिया के उपयोग को लेकर कहा कि दानेदार यूरिया के स्थान पर नैनो तरल यूरिया के प्रयोग हेतु किसानों को जागरूक किया जा रहा है.

प्रदेश में अगले 6 महीने में योगी सरकार देगी 40 हजार युवाओं को ट्रेनिंग, 51 हजार को नौकरी दिलवाने का लक्ष्य

भारत में हुई तरल नैनो यूरिया की शुरुआत

बता दें कि तरल नैनो यूरिया की शुरुआत दुनिया में सबसे पहले भारत में एक सहकारी संस्था इफको द्वारा की गई. इसे गुजरात के बॉयोटेक्नोलॉजी रिसर्च सेंटर में तैयार किया गया है. अब इफको बिना किसी रॉयल्टी के इसकी तकनीक नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड (एनएफएल) और राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर लिमिटेड (आरसीएफ) को दे रही है. भारत नैनो यूरिया का कॉमर्शियल उत्पादन शुरू करने वाला विश्व का पहला देश बन गया है.

अतीक को साथ लाके बोले ओवैसी- मुसलमान वोट से यादव CM बनता है लेकिन नौकरी चपरासी की भी नहीं मिलती

500 एमएल में एक बैग यूरिया के जितना पोषक तत्व

नैनो तरल यूरिया पर्यावरण सुरक्षा, कृषि लागत में कमी और किसानों की आय बढ़ाने में दानेदार यूरिया से अधिक सहायक है. नैनो यूरिया की एक बोतल में 40 हजार पीपीएम नाइट्रोजन होता है, जितना यूरिया की एक सामान्य बोरी में होता है. इस 500 एमएल यूरिया बोतल को 100 लीटर पानी में घोलकर पौधों में स्प्रे करना होता है. इसकी कीमत सिर्फ 240 रुपये हैं. जो सामान्य यूरिया से 10 फीसदी से भी कम है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें