UP Scholarships : चुनाव से पहले CM योगी देंगे 55 लाख छात्र-छात्राओं को स्कॉलरशिप

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Sat, 25th Dec 2021, 11:03 AM IST
  • योगी सरकार इस चुनावी साल में करीब 55 लाख छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति और फीस भरपाई का लाभ देगी. इस योजना में सामान्य, ओबीसी, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक सभी वर्गों के आवेदक शामिल हैं. पिछले साल की अपेक्षा इस बार करीब 16 लाख से ज्यादा छात्र-छात्राओं को लाभ मिलने जा रहा है.
उत्तर प्रदेश के करीब 55 लाख छात्र-छात्राओं को मिलेगी स्कॉलरशिप

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव से पहले मौजूदा योगी सरकार प्रदेश के करीब 55 लाख छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति और फीस भरपाई का लाभ देगी. इसमें योजना में सामान्य, ओबीसी यानी पिछड़ा वर्ग , अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक सभी वर्गों के स्टूडेंट्स शामिल होंगे. बताया जा रहा है कि पिछले साल के अपेक्षा इस बार करीब 16 लाख से ज्यादा छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति और फीस भरपाई का लाभ मिलने वाला है.

बता दें कि पिछले साल सामान्य, ओबीसी, एससी, एसटी और माइनॉरिटी सभी वर्गों के करीब 39 लाख छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति और फीस भरपाई का लाभ मिला था. कोरोना महामारी के चलते ज्यादातर शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान बंद पड़े थे. इस कारण बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं वजीफा और फीस भरपाई पाने के लिए आवेदन नहीं कर सके थे.

लखनऊ: CM योगी आज इकाना स्टेडियम में देंगे 1 लाख युवाओं को फ्री स्मार्टफोन व टैबलेट

छात्रवृत्ति और फीस भरपाई स्कीम और उसके लिए आए आवेदनों के संबंध में समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक पीके त्रिपाठी ने बताया कि इस बार सभी वर्गों से कुल 72 लाख 44 हजार आवेदन आए हैं. जिनमें से 17 लाख आवेदन प्रीमैट्रिक यानी दसवीं कक्षा से पहले और 55 लाख 37 हजार पोस्ट मैट्रिक यानी दसवीं से ऊपर की कक्षाओं में पढ़ने वाले आवेदको के आवेदन हैं. इनमें से आवेदन पत्र की खामियों, मेरिट की अनिवार्यता और बजट की उपलब्धता समेत अन्य पर आधारित कारणों की वजह से करीब 55 लाख आवेदकों को छात्रवृत्ति और फीस भरपाई का लाभ मिल पाएगा.

UPTET Exam 2021: यूपी के छात्रों के लिए फिर मुसीबत, यूपीटेट परीक्षा फिर टलेगी !

आगे समाज कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक ने कहा कि शिक्षण संस्थानों से पोस्ट मैट्रिक के आवेदन फॉरवर्ड किए गए. इससे पहले 22 नवंबर तक प्री मैट्रिक के आवेदन फॉरवर्ड हुए. उनकी स्क्रुटनी की गई. इसके बाद पात्र पाए गए आवेदकों को दिसंबर के अंत तक छात्रवृत्ति और फीस भरपाई की राशि आवेदकों के बैंक खातों में भेजना शुरू किया जाएगा. इनमें के  शिक्षण संस्थानों द्वारा फॉरवर्ड किए गए आवेदनों में से पोस्ट मैट्रिक के स्तर के छात्रवृत्ति और फीस भरपाई के लिए 13 लाख 36 हजार आवेदन अनुसूचित जाति और 14 हजार आवेदन अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं के हैं. इसके आलावा प्री मैट्रिक स्तर पर 28 सौ आवेदन शिक्षण संस्थानों द्वारा अनुसूचित जनजाति के बच्चों का फॉरवर्ड मिला है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें