CM योगी ने किया ऐलान, बच्चों के लिए हर जिले में बनाया जाए पीडियाट्रिक आईसीयू

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th May 2021, 11:25 AM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे राज्य के हर जिले में बच्चों के इलाज के लिए पीडियाट्रिक आईसीयू यानी पीकू की स्थापना का काम शुरू करने के साथ साथ ही पीडियाट्रीशियन की ट्रेनिंग का काम भी शुरू करने के लिए निर्देश दिया है.
CM योगी ने किया ऐलान, बच्चो के लिए हर जिले में बनाया जाए पीडियाट्रिक आईसीयू

लखनऊ। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है. वहीं विशेषज्ञों ने सरकार और देश में रहने वाले लोगों को कोरोना की तीसरी लहर से जूझने के लिए तैयारी करने के लिए कह दिया है. उनके मुताबिक इस तीसरी लहर के आने पर सबसे ज्यादा बच्चे कोरोना का शिकार होंगे. हर राज्य ने अपनी तीसरी लहर से बचने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं.

इसी के चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश देते हुए कहा कि पूरे राज्य के हर जिले में बच्चों के इलाज के लिए पीडियाट्रिक आईसीयू यानी पीकू की स्थापना का काम अभी से शुरू कर दिया जाए. छोटे जिलों में 25 बेड और बड़े जिलों व मण्डल मुख्यालयों में 100 बेड तक के पीकू की स्थापना जल्द से जल्द की जाए. इसके साथ ही, पीडियाट्रीशियन की ट्रेनिंग का काम भी शुरू कराया जाए.

Ramzan 2021: यूपी के बड़े शहरों में 10 मई का रोजा समय, इफ्तार टाइम टेबल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि सभी कोविड अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में मानव संसाधन की उपलब्धता के लिए भर्ती प्रक्रिया में तेजी लाई जाए. मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि सभी कोविड अस्पतालों में रेमडेसिविर एवं अन्य जीवन रक्षक दवाइयों की अनवरत उपलब्धता बनी रहनी चाहिए. इन दवाओं की सप्लाई चेन दुरुस्त रहे. प्रत्येक जिले में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेन्टर (आईसीसीसी) को प्रभावी ढंग से संचालित किया जाए. आईसीसीसी के लिए एक जिम्मेदार अधिकारी प्रभारी बनाया जाए. साथ ही, आईसीसीसी के स्तर पर संचालित पृथक-पृथक कार्यों की जिम्मेदारी अलग-अलग टीमों को दी जाए.

थाइलैंड कॉल गर्ल की मौत से हड़कंप, लखनऊ पुलिस की स्पेशल टीम करेगी जांच

सीएम योगी ने आगे कहा कि कोविड संक्रमित व्यक्तियों की प्रभावी उपचार व्यवस्था सुनिश्चित करने के साथ ही, सभी जिला चिकित्सालयों में पोस्ट कोविड केयर सेण्टर स्थापित किये जाएं. आने वाले दो दिनों में इन सेण्टरों को हर जिले में कार्यशील किया जाए. पोस्ट कोविड केयर सेन्टर में एक फिजिशियन, एक साइकेट्रिस्ट और एक फिजियोथेरेपिस्ट की तैनाती की जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें