राज्य में साइबर अपराध रोकथाम के लिए सीएम योगी ने दी 32 करोड़ रुपये की मंजूरी

Smart News Team, Last updated: Wed, 13th Jan 2021, 11:57 AM IST
  • राज्य में साइबर अपराध की रोकने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साइबर थानों के लिए 32 करोड़ रुपये की मंजूरी दी है. सीएम के निर्देश पर मंगलवार को लोक भवन में हुई बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने साइबर सुरक्षा का जाएजा लिया.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ.( फाइल फोटो )

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के राज्य में साइबर अपराध को रोकने के लिए कुछ अहम फैसले किए है. सरकार ने निर्देश पर प्रदेश के सभी परिक्षेत्रीय साइबर थानों में पर्याप्त उपकरण और संसाधनों की व्यवस्था करने का निर्देश दिया. सरकार ने नए साइबर थानों को अपडेट करने और डाटा संबंधी कार्यों को करने के लिए 32 करोड़ 80 लाख रुपये की राशि मंजूर की है.

मंगलवार को अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी की अध्यक्षता में लोक भवन में उच्चस्तीय बैठक हुई. बैठक में सीएम द्वारा दिए निर्देश के बारे में चर्चा हुई. बैठक में साइबर अपराधियों पर नकेल कंसने के लिए अपर मुख्य सचिव ने साइबर विशेषज्ञों से बात की. अपर मुख्य सचिव ने विशेषज्ञों से यह जानने की कोशिश भी राज्य में हो रहे साइबर अपराध से कैसे निपटा जाए.

GST रिटर्न दाखिल करना पहले से आसान करेगी योगी सरकार

अपर मुख्य सचिव ने कहा, शासन द्वारा प्राप्त धनराशि से साइबर लैब के लिए डाटाबेस मैनेजमेंट, डेटा एनेलिसिस, फोरेन्सिक टूल्स, डेटा एक्सट्रैक्शन साफ्टवेयर खरीदे जाएंगे. इस सभी टूल्स और साफ्टवेयर की मदद से राज्य के साइबर अपराधियों को पकड़ने वाले प्रोगाम में तेजी आएगी. जिस तरह तकनीक का विकास हो रहा है उस तरह से हमें भी समय-समय पर अपने आप को अपडेट करना होगा.

बर्ड फ्लू को लेकर CM योगी आदित्यनाथ की हाई लेवल मीटिंग, दिए जरूरी निर्देश

उत्तर प्रदेश में बीते कुछ सालों में साइबर अपराध मामले बढ़ा रहा है. राज्य में साल 2018 में साइबर अपराध के 6280 मामले सामने आए जो साल 2017 से 27 फीसदी अधिक था. अगर साल 2020 के शुरुआती 7 महीने की बात की जाए, तो साइबर क्राइम से जुडी 5400 के करीब शिकायतें पुलिस मिल चुकी थी.

सभी जिलों में होंगे चौरी-चौरा कांड के शताब्दी समारोह का आयोजन: यूपी सीएम योगी

CM योगी ने किया औचक निरीक्षण, लिया ड्राई रन व वैक्सिनेशन तैयारी का जायजा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें