कोरोना संक्रमण को लेकर CM योगी ने दिए जरूरी दिशा-निर्देश, जानें डिटेल

Smart News Team, Last updated: Tue, 27th Apr 2021, 11:29 PM IST
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा विशेषज्ञों एवं मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ संवाद-कार्यक्रम में अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में चिकित्सा विशेषज्ञों, पैरामेडिकल स्टाफ, निजी अस्पतालों सहित स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े लोगों का योगदान सबसे महत्वपूर्ण है. देश और समाज के हित में अपने जीवन की परवाह न करते हुए दायित्व निर्वहन करने का आपका प्रयास प्रेरणास्पद है.
CM योगी ने मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ संवाद-कार्यक्रम में अपनी बात रखी.

लखनऊ- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा विशेषज्ञों एवं मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ संवाद-कार्यक्रम में अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ इस लड़ाई में चिकित्सा विशेषज्ञों, पैरामेडिकल स्टाफ, निजी अस्पतालों सहित स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े लोगों का योगदान सबसे महत्वपूर्ण है. देश और समाज के हित में अपने जीवन की परवाह न करते हुए दायित्व निर्वहन करने का आपका प्रयास प्रेरणास्पद है.

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड की इस सेकेंड वेव की संक्रामकता से हम सभी परिचित हैं. यह वेव पिछली लहर से 30 से 50 गुना अधिक संक्रामक है. विद्वानों ने कहा है कि आपदा में धैर्य सबसे बड़ा मित्र होता है. हमें यह धैर्य बनाये रखने की जरूरत है. लोगों से संयम के लिए जागरूक करने की जरूरत है. कोविड को हराने के लिए कोविड से 10 कदम आगे की सोच रखकर काम करना होगा. हर जिले में डायलिसिस के मरीजों की सुविधा में विस्तार हुआ है. उन्होंने आगे कहा कि कोविड की संक्रामकता को लेकर बीते कुछ दिनों से अच्छे संकेत मिल रहे हैं. स्वास्थ्य जगत के परिश्रम, टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की मदद से उत्तर प्रदेश की रिकवरी दर लगातार बेहतर हो रही है. 24 अप्रैल को जहां 38055 पॉजिटिव केस आये थे, वहीं 23231 की रिकवरी हुई थी.

UP:कोरोना काल में मरने वालों का 24 घंटे में कराएं रजिस्ट्रेशन, बताएं मौत का कारण

मुख्यमंत्री योगी ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश कोविड के खिलाफ लड़ाई में पूरी प्रतिबद्धता के साथ लड़ रहा है. कोविड की पहली लहर के अनुभवों से सीखते हुए स्वास्थ्य संसाधनों को प्राथमिकता के साथ बेहतर किया गया है. यह काम लगातार जारी है. हमें हर परिस्थिति के लिए तैयार रहना होगा. आज 116000 से अधिक एल-1 के बेड्स हैं तो एल-टू व एल-3 के 65000 से अधिक बेड हैं. हम इसे दोगुना करने की दिशा में काम कर रहे हैं. इसमें निजी क्षेत्र को जुड़ना पड़ेगा.

लखनऊ पहुंची ऑक्सीजन एक्स्प्रेस की चौथी खेप, जानें कितना ऑक्सीजन आया

Ramadan 2021: यूपी के प्रमुख 10 शहरों में 27 अप्रैल इफ्तार समय टाइम टेबल

पेट्रोल डीजल 27 अप्रैल का रेट: लखनऊ, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज में नहीं हुआ कीमतों में बदलाव

कोरोना से जीतकर लौटे लखनऊ DM अभिषक प्रकाश, रोशन जैकब बनीं प्रभारी अधिकारी

IIT कानपुर में तेजी से फैल रहा कोरोना, हॉस्टल खाली करा छात्रों को भेजा जा रहा घर

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें