PM मोदी से बोली प्रियंका -आपकी सरकार ने बगैर ऑर्डर और FIR के 28 घंटों से हिरासत में रखा

Nawab Ali, Last updated: Tue, 5th Oct 2021, 11:47 AM IST
  • कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी मृतक को लखीमपुर पहुंचने से पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था लेकिन अभी तक उन्हें रिहा नहीं किया गया है. प्रियंका गांधी ने ट्वीटर पर लिखा है कि नरेंद्र मोदी जी आपकी सरकार ने मुझे बगैर किसी ऑर्डर और एफआईआर के मुझे पिछले 28 घंटों से हिरासत में रखा है.
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पुलिस हिरासत में. (फोटो साभार प्रियंका गांधी फेसबुक)

लखनऊ. कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी मृतक किसानों के परिजनों से मिलने के लिए रविवार रात करीब 12 बजे लखनऊ कौल हाउस से लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हुई थी लेकिन प्रियंका गांधी को लखीमपुर से पहले ही हरगांव में पुलिस ने हिरासत में ले लिया था. प्रियंका गांधी ने ट्वीटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए लिखा है कि नरेंद्र मोदी जी आपकी सरकार ने मुझे बगैर किसी ऑर्डर और एफआईआर के मुझे पिछले 28 घंटों से हिरासत में रखा है. अन्नदाता को कुचल देने वाला ये व्यक्ति अब तक गिरफ़्तार नहीं हुआ. क्यों? राहुल गांधी ने बहन प्रियंका के लिए लिखा है कि जिसे हिरासत में रखा है, वो डरती नहीं है- सच्ची कांग्रेसी है, हार नहीं मानेगी! सत्याग्रह रुकेगा नहीं.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस ने तमाम इंतेजाम किये थे. लेकिन प्रियंका गांधी रविवार रात को ही वो लखनऊ से लखीमपुर के लिए रवाना हो गई थी. पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए कई जगह बेरिकेडिंग की थी लेकिन प्रियंका गांधी बेरिकेडिंग को तोड़ते हुए लखीमपुर से 22 किलोमीटर पहले हरगांव पहुंच गई थी जहां पुलिस ने प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किया था. इस दौरान प्रियंका गांधी के साथ कई जगह पुलिस की झड़प के वीडियो भी सामने आये थे. 

हिरासत में प्रियंका गांधी बोलीं- UP के लिए आवाज उठाने में मायावती, अखिलेश नाकाम रहे

प्रियंका गांधी ने ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल करते हुए लिखा है कि नरेंद्र मोदी जी आपकी सरकार ने मुझे बगैर किसी ऑर्डर और एफआईआर के मुझे पिछले 28 घंटों से हिरासत में रखा है. इससे पहले भी कई ऐसे वीडियो सामने आये थे जिसमें प्रियंका गांधी पुलिस से सवाल जवाब करती नजर आई थी लेकिन पुलिस ने उन्हें मृतक किसानों के परिवार से मिलने नहीं दिया. उनको गिरफतार कर एक कमरे में रखा गया था जहां पर कमरे में झाड़ू लगाते हुए उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें