UP में सरकार बनने पर छात्राओं को स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी देंगे- प्रियंका गांधी

Nawab Ali, Last updated: Thu, 21st Oct 2021, 11:20 AM IST
  • कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर इंटर पास छात्राओं को स्मार्टफोन और ग्रेजुएशन पास छात्राओं को इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी दी जाएगी.
यूपी में सरकार बनने पर छात्राओं को इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी और स्मार्टफोन देगी कांग्रेस. फोटो क्रेडिट प्रियंका गांधी ट्वीटर

लखनऊ. कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी ने यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले प्रदेश की छात्राओं के लिए बड़ी घोषणा की है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि यूपी में कांग्रेस की सरकार बनने पर छात्राओं को स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी दी जायेंगी. कल प्रियंका गांधी को आगरा पहुंचने से पहले ही लखनऊ की सीमा पर पुलिस ने रोक दिया था. इस दौरान प्रियंका गांधी से स्कूली छात्राओं की मुलाकात हुई थी. छात्राओं ने प्रियंका को बताया था कि उन्हें पढ़ने व सुरक्षा के लिए स्मार्टफोन की जरुरत है.

उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर बड़ी घोषणा करते हुए लिखा है कि कल मैं कुछ छात्राओं से मिली. उन्होंने बताया कि उन्हें पढ़ने व सुरक्षा के लिए स्मार्टफोन की जरूरत है. मुझे खुशी है कि घोषणा समिति की सहमति से आज UP कांग्रेस ने निर्णय लिया है कि सरकार बनने पर इंटर पास लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक लड़कियों को इलेक्ट्रानिक स्कूटी दी जाएगी. प्रियंका गांधी को आगरा में पुलिस पिटाई से अरुण वाल्मीकि की मौत मामले में आगरा जाने से पहले ही पुलिस ने लखनऊ में रोक दिया था. स्कूली छात्राओं का जब पता चला की प्रियंका हैं तो उन्होंने प्रियंका के साथ सेल्फी ली. इस दौरान छात्राओं ने अपनी कई परेशानियों को प्रियंका गांधी के सामने रखा था. 

महिला पुलिसकर्मियों पर जांच के आदेश पर प्रियंका गांधी बोलीं- तस्वीर लेना गुनाह तो इसकी सजा मुझे मिले

स्कूली छात्राओं के साथ बातचीत में प्रियंका गांधी ने फोन देने की घोषणा की बात की थी. स्कूली छात्राओं का लड़की हूं, लड़ सकती हूं नारे पर कहना है कि हम भी प्रियंका गांधी की तरह बनना है. हम चाहते हैं कि प्रियंका गांधी यूपी की मुख्यमंत्री बनें. प्रियंका गांधी के साथ कल ही यूपी पुलिस की महिला सिपाहियों ने भी सेल्फी ली थी जिक्से बाद उन पर जांच बैठा दी गई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें