पेट्रोल-डीजल से मोदी सरकार ने जो कमाया उससे लोगों को वैक्सीन मिलती: प्रियंका गांधी

Smart News Team, Last updated: 11/06/2021 06:41 PM IST
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए कहा कि महामारी में मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 2.74 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा टैक्स वसूला है. उन्होंने कहा कि इन पैसों से पूरे भारत को वैक्सीन, एम्स और गरीबों को मदद मिल सकती थी लेकिन मिला कुछ भी नहीं.
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर केन्द्र सरकार को घेरा.

लखनऊ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि कोरोना काल में  पेट्रोल-डीजल पर वसूले 2.74 लाख करोड़ रुपए से पूरे भारत को वैक्सीन मिल सकती थी. प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए कहा कि इन पैसों से 718 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट, 29 राज्यों में एम्स और 25 करोड़ गरीब बच्चों को 6 हजार रुपए की मदद मिल सकती थी लेकिन मिला कुछ भी नहीं है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि महामारी के दौरान मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 2.74 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा टैक्स वसूला है. उन्होंने कहा कि इन पैसों से क्या मिला सकता था? पूरे भारत को वैक्सीन, 718 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट, 29 राज्यों में एम्स अस्पताल और 25 करोड़ गरीबों को 6 हजार रुपए की मदद लेकिन मिला कुछ भी नहीं.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को लखनऊ पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट

प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को फेसबुक पर पोस्ट शेयर करते हुए कहा कि जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 101 डॉलर प्रति बैरल थी, उस समय देश में पेट्रोल 63.99 रुपए प्रति लीटर और डीजल 50.25 रुपए लीटर थी. उन्होंने कहा कि आज अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 69.79 डॉलर प्रति बैरल हे तो पेट्रोल 95.31 रुपए प्रति लीटर और डीजल 86.22 रुपए प्रति लीटर है. प्रियंका गांधी ने कहा कि आखिर क्यों सरकार जनता को लूट रही है?

इससे पहले उत्तर प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है. अजय कुमार लल्लू शुक्रवार को पेट्रोल, डीजल, सरसों तेज, अरहन दाल समेत कई जरूरी चीजों की बढ़ती कीमतों को लेकर सांकेति प्रदर्शन करने के लिए आईटी चौराहे पर जा रहे थे लेकिन यूपी पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया.

UP में शराब के ठेके बंद होने के टाइम में बदलाव, जानें खुलने और बंद होने का समय

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें