प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर निशाना, प्रदेश बिजली मीटरों की प्रयोगशाला बना

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Nov 2020, 4:31 PM IST
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी बिजली मोटरों की प्रयोगशाला बन गई है. जिस पर यूपी सरकार में मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि प्रियंका गांधी अपनी सरकारों में ज्ञान दें.
बढ़ते बिजली को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बढ़ते बिजली बिलों को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश बिजली मीटरों के लिए प्रयोगशाला बन गया है. प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को बयान जारी करते हुए यूपी सरकार से किसानों के बिजली रेट को आधा करने और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की. 

प्रियंका गांधी के इस बयान पर उत्तर प्रदेश सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि 60 साल से किसानों और गरीबों का शोषण करने वाली कांग्रेस और उनकी नेता प्रियंका गांधी वाड्रा आज ज्ञान बांट रही हैं. अगर आपको ज्ञान बांटना ही तो है अपनी सरकार में बांटिए. यहां अपने नेताओं को भेजकर पराली जलाकर किसान भाईयों को बदनाम करने की कोशिश कर रही हैं. उन्होंने कहा कि यूपी में किसानों और नौजवानों की सरकार है.

खुशखबरी! योगी सरकार प्रदेश में स्टोर स्थापित कर बांटेगी कोविड-19 वैक्सीन

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने शुक्रवार बयान जारी करते हुए कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश में बिजली के बढ़ते बिलों और बिजली मीटरों का आतंक व्याप्त है.  जिससे पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा हुआ है. उन्होंने प्रदेश सरकार से तीन मांग की. जिसमें किसानों को मिल रही बिजली रेट को तत्काल प्रभाव से हाफ किया जाए. बिजली मोटरों को सच सामने लाया जाए और दोषियों पर कार्यवाही. तीसरी मांग है कि बुनकरों-दस्तकारों, छोटे लघु उद्योगों को बिजली भुगतान में रियायत दी जाए.

सीएम योगी का ओएसडी बनकर सीएम आवास पर किया फोन, गिरफ्तार

प्रियंका गांधी ने इस बयान में कहा कि यूपी बिजली मोटरों की प्रयोगशाला बन गई है. बिजली के मीटर कई गुना तेज चलते पाए गए हैं. जिन घरों में ताले लगे हुए हैं, बिजली की कोई खपत नहीं है. उन घरों में 7-8 हजार का बिल आ रहा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश के कई जिलों में तो ये भी देखा गया कि बिना बिजली मीटर के लगे भी बिल आ गया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें