प्रियंका ने भाजपा की रैली को लेकर कसा तंज, कहा- 'जुमलों की दुकान, फीके पकवान'

Smart News Team, Last updated: Tue, 16th Nov 2021, 11:34 AM IST
  • कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने कोरोना काल में हुए लॉकडाउन को लेकर भाजपा को आईना दिखाया है. उन्होंने ट्विटर पर ट्विट करते हुए भाजपा पर तंज कसा है
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने कोरोना काल में हुए लॉकडाउन को लेकर भाजपा पर तंज कसा

लखनऊ. अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव-2022 के मद्देनजर सियासी पार्टियों ने अपनी तैयारियों को अंजाम देना शुरू कर दिया है. इस दौरान आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है. इसी क्रम में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने कोरोना काल में हुए लॉकडाउन को लेकर भाजपा को आईना दिखाया है. उन्होंने ट्विटर पर ट्विट करते हुए लिखा है, "लॉकडाउन के दौरान जब दिल्ली से लाखों श्रमिक बहन-भाई पैदल चलकर यूपी में अपने गांवों की तरफ लौट रहे थे, उस समय भाजपा सरकार ने श्रमिकों को बसें उपलब्ध नहीं कराई थीं" लेकिन, पीएम और गृहमंत्री की रैलियों में भीड़ लाने के लिए सरकार जनता की गाढ़ी कमाई के करोड़ों रुपए खर्च कर रही है.

उन्होंने आगे लिखा कि "उप्र के गांव-गांव में भाजपा के प्रति गहरी नाराजगी है, भाजपा की 'जुमलों की दुकान, फीके पकवान' वाली राजनीति को बच्चा-बच्चा समझ चुका है, इसलिए करोड़ों लगाकर बस चेहरा बचाने की कवायद चल रही है".

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन से पहले अखिलेश बोले- फीता लखनऊ से आया, कैंची दिल्ली से

यूपी में सभी क्षेत्रों में होगी 200 से ज्यादा रैलियों

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी प्रचार रणनीति पूरी तरह तैयार कर दी है. उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी समेत भाजपा के कई नेताओं की 14 नवंबर रविवार को बनारस और दिल्ली में बैठकें हुईं थी. इनमें तय हुआ की अगले डेढ़ महीने के भीतर उत्तर प्रदेश के सभी क्षेत्रों में 200 से ज्यादा रैलियों का आयोजन किया जाए.

भाजपा का यूपी पर फोकस

केंद्र सरकार के 30 मंत्रियों को इन रैलियों और कार्यक्रमों की जिम्मेदारी दी गई है. भाजपा सूत्रों की माने तो 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनाव के लिए भाजपा सबसे ज्यादा तैयारी कर रही है, हालाकिं चुनाव यूपी के अलावा पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भी होने वाले है, लेकिन चुनाव को लेकर सबसे ज्यादा फोकस उत्तर प्रदेश पर ही किया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें