कांग्रेस ने यूपी में की ‘प्रशिक्षण से पराक्रम’ अभियान के दूसरे चरण की शुरूआत

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Wed, 15th Sep 2021, 8:25 PM IST
  • कांग्रेस पार्टी ने अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव  2022 को ध्यान रखते हुए सूबे के पदाधिकारियों के लिए 'प्रशिक्षण से पराक्रम' अभियान के दूसरे चरण की शुरूआत बुधवार से कर दी है. इस प्रशिक्षण में पार्टी पदाधिकारियों को शिविरों में 5 अहम बातों से रबरू कराया जाएगा.
फाइल फोटो : कांग्रेस पार्टी के प्रशिक्षण से पराक्रम अभियान के दूसरे चरण की शुरूआत ( प्रतिकात्मक फोटो )

लखनऊ. कांग्रेस ने 'प्रशिक्षण से पराक्रम' अभियान का दूसरा चरण बुधवार से शुरू कर दिया है. इसी के साथ सूबे में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियां तेज हो गई है. इस प्रशिक्षण का उद्देश्य पार्टी पदाधिकारियों को पांच प्रमुख बातों से रूबरू कराना है जिससे इसके संगठनात्मक ढांचे को मजबूती मिले. पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने बताया कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के निर्देश पर 'प्रशिक्षण से पराक्रम' अभियान के दूसरे चरण में पूरे प्रदेश में दो सौ से ज्यादा प्रशिक्षण शिविर लगाकर 30 हजार से ज्यादा कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को प्रशिक्षित किया जायेगा. आगे उन्होने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने बीते जुलाई महिने से एक विशेष ट्रेनिंग टास्क फोर्स का गठन किया है जो अनवरत प्रशिक्षण के कार्य को अंजाम दे रही है.

गौरतलब हो कि जुलाई में कांग्रेस पार्टी ने इस 'प्रशिक्षण से पराक्रम' महाभियान के पहले चरण में तकरीबन 25 हज़ार कार्यकतार्ओं को प्रशिक्षित किया था. इस अभियान के पहले चरण में 40 सदस्यों वाली 7 मास्टर ट्रेनर टीमों ने सूबे के सभी जिलों में 11 दिनों तक जिला स्तरीय और शहरी कमेटियों के पार्टी पदाधिकारियों के साथ-साथ ब्लाक अध्यक्षों, वार्ड अध्यक्षों और न्याय पंचायत अध्यक्षों को प्रशिक्षित किया था. अब इस अभियान के दूसरे चरण का प्रशिक्षण विधानसभावार शुरू किया जा रहा है.

यूपी के इन जिलों से विधानसभा चुनाव लड़ सकती हैं प्रियंका गांधी, पार्टी में तैयारियां शुरू

बताया जा रहा है कि प्रशिक्षण से पराक्रम अभियान का दूसरा फेज 4 चरणों में पूरा होगा. इस अभियान के तहत कांग्रेस पार्टी ने 700 प्रशिक्षण शिविर आयोजित करने का निर्णय किया है. इन शिविरों के जरिए 2 लाख पदाधिकारियों को प्रशिक्षित करने का उद्देश्य रखा गया है.

पांच प्रमुख विषयों पर आधारित होगा दूसरे चरण का प्रशिक्षण

इन शिविरों में पार्टी पदाधिकारियों को पांच प्रमुख विषयों पर प्रशिक्षण दी जाएगी. प्रशिक्षण में बूथ मैनेजमेंट और सोशल मीडिया के बेहतरीन उपयोग के लिए पार्टी पदाधिकारियों पर खासा जोर दिया जा रहा है. बाकी बचे तीन में कांग्रेस पार्टी की विचारधारा, भाजपा-RSS का सच और 'किसने बिगाड़ा उत्तर प्रदेश' नाम से कार्यशालाएं भी आयोजित की जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें