अब लखनऊ से चित्रकूट जाना होगा आसान, नवंबर तक पूरा हो जाएगा प्रतापगढ़ से शहजादपुर तक बन रहे पुल का निर्माण

Smart News Team, Last updated: Wed, 1st Sep 2021, 12:00 PM IST
  • प्रतापगढ़ के करेटी घाट से कौशांबी के शहजादपुर तक गंगा नदी पर बन रहे पुल का निर्माण नवंबर तक पूरा होने की संभावना है. इससे प्रतापगढ़ के कुंडा होकर जाने पर प्रयागराज नहीं जाना पड़ेगा. इससे मुसाफिरों को एक घंटा कम समय लगेगा.
लखनऊ से चित्रकूट की दूरी होगी कम, प्रतापगढ़ से शहजादपुर कौशांबी तक गंगा पर हो रहा है पुल का निर्माण (फाइल फोटो)

लखनऊ. प्रतापगढ़ के करेटी घाट से कौशांबी के शहजादपुर तक गंगा नदी पर बन रहे पुल का निर्माण जल्द पूरा होने वाला है. पुल के बन जाने से लखनऊ से कौशांबी, चित्रकूट या मध्य प्रदेश की ओर जाना अब आसान हो जाएगा. प्रतापगढ़ से शहजादपुर तक गंगा नदी पर पुल बन जाने से आम जनों को काफी सहूलियत होगा. इससे प्रतापगढ़ के कुंडा होकर जाने पर प्रयागराज नहीं जाना पड़ेगा. इससे मुसाफिरों को एक घंटा कम समय लगेगा. नवंबर तक आना-जाना संभव होने की उम्मीद है. 

सेतु निगम को पुल के निर्माण का जिम्मा सौंपा गया है. सेतु निगम के परियोजना प्रबंधक सुभाष बागड़ी बताते हैं कि पुल का निर्माण जल्द पूरा हो जाएगा. उन्होंने कहा कि आम जनता के आवागमन को सुगम बनाने के लिए पूल को नवंबर के अंत में या फिर दिसंबर की शुरुआत में खोल दिया जाएगा.

14 सितंबर तक लखनऊ से नहीं चलेंगी ये पांच जोड़ी ट्रेन, देखें पूरी लिस्ट

पुल की लंबाई 1272 मीटर है

करेटी से शहजादपुर तक बन रहे पुल की लंबाई 1272 मीटर बताई जा रही है. पुल यमुना पुल की तरह जर्मन पद्धति से निर्माण एक्स्ट्राडोस केवल स्टेज सेतु के रूप में किया गया है. पुल में कुल 13 पिलर होंगे. पुल बनाने की लागत कीमत 248 करोड़ रुपये बताई जा रही है.

बता दें इससे पहले लखनऊ और रायबरेली के लोगों को कौशांबी, चित्रकूट और मध्य प्रदेश जाने के लिए प्रयागराज आना पड़ता था. इस कारण यात्रियों को 50 किलोमीटर अधिक सफर तय करना पड़ता था. करेटी से शहजादपुर तक गंगा पर पुल बन जाने से लखनऊ और रायबरेली के लोगों का समय और पैसा दोनों का बचत होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें