लखनऊ: भूखंड मामले में अरेस्ट होंगे LDA सचिव, उपभोक्ता फोरम ने दिया आदेश

Smart News Team, Last updated: Thu, 1st Oct 2020, 12:14 AM IST
  • भूखंड के 15 साल पुराने मामले पर लखनऊ में उपभोक्ता फोरम ने एलडीए के सचिव अनिल भटनागर को अरेस्ट कर 13 अक्टूबर को पेश करने का निर्देश दिया.
उपभोक्ता फोरम ने पुलिस को एलडीए सचिव को अरेस्ट करके पेश करने का आदेश दिया है.

लखनऊ. लखनऊ में आवंटित भूखंड न देने पर उपभोक्ता फोरम ने एलडीए प्रभारी सचिव अनिल भटनागर को अरेस्ट करने का आदेश दिया. फोरम ने पुलिस कमिश्नर को सचिव को गिरफ्तार कर 13 अक्टूबर पेश करने का निर्देश दिया. पहले फोरम के आदेश में एलडीए उपाध्यक्ष शिवाकांत द्विवेदी का नाम भी था जिसे बाद में हटा लिया गया.

एलडीए उपाध्यक्ष शिवाकांत द्विवेदी ने कहा कि मामला प्रियदर्शनी कॉलोनी के एक भूखंड का है जो काफी दिनों से विवादित है. उच्च न्यायालय में ये मामला चल रहा है. उपभोक्ता फोरम के नए आदेश में हमारा नाम नहीं है. इसमें केवल सचिव की गिरफ्तारी की बात कही गई है. फोरम के नए आदेश मे सिर्फ अनिल भटनागर का ही नाम है.

प्रदूषण में देश में नंबर 1 नवाबों का शहर लखनऊ, कानपुर में सुधरी आबोहवा

आपको बता दें कि लखनऊ की प्रियदर्शनी कालोनी में एक आवंटित महबूब अली ने 2005 में उपभोक्ता फोरम में वाद दायर किया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि प्राधिकरण उनको कोई भूखंड नहीं दे रहा है. इस बारे में फोरम में कई बार सुनवाई भी हुई और फोरम ने प्राधिकरण को भूखंड देने का आदेश भी दिया था. 

बाबरी केस में फैसले के बाद साध्वी ऋतंभरा बोलीं- कानूनी लड़ाई से मथुरा भी जीतेंगे

फोरम के आदेश के बाद एलडीए के वकील ने आवेदन पत्र में कहा था कि जुलाई 2018 तक इसका अनुपालन हो जाएगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं. दो साल से ज्यादा होने के बाद भी अब तक महबूब अली को भूखंड नहीं दिया गया है. फोरम ने 15 साल से लंबित पड़े इस मामले पर नाराजगी जताते हुए आदेश में कहा कि एक न एक बहाना कर एलडीए समय लेता रहा लेकिन फोरम के आदेश का पालन नहीं किया. अब उनसे ये उम्मीद करना कि वे इसका पालन करेंगे, विश्वसनीय नहीं है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें