भारत के पहले सहकारिता मंत्री अमित शाह करेंगे राष्ट्र की सहकारी संस्थाओं को संबोधित

Atul Gupta, Last updated: Thu, 23rd Sep 2021, 9:42 PM IST
    सहकार मंत्री अमित शाह इस अनूठे सहकारी समागम में देशभर के सहकारिता से जुड़े 2000 से अधिक सहकारी बंधुओं को संबोधित करेंगे. सम्मेलन में देश-विदेश से करोड़ों सहकारी जन भी वर्चुअल माध्यम से शामिल होंगे
25 सितम्बर को भारत का पहला सहकारी सम्मेलन

लखनऊ: भारत के पहले सहकारिता सम्मेलन का आयोजन 25 सितम्बर 2021 को नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में होने जा रहा है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सहकार से समृद्धि के लक्ष्य को केंद्र में रखकर अस्तित्व में आये सहकारिता मंत्रालय के पहले सहकारिता मंत्री अमित शाह अपने तरह के पहले और अनूठे सहकारी समागम में सहकारिता से जुड़े लोगों को संबोधित करेंगे।

इस मौके पर सहकारिता राज्य मंत्री बी. एल. वर्मा और इंटरनैशनल कोआपरेटिव एलांयस (ग्लोबल) के अध्यक्ष डॉ. एरियल ग्वार्को मौजूद रहेंगे। इस सम्मेलन में देशभर के लगभग 2000 से अधिक सहकारी बंधु सदेह एवं दुनिया भर से करोड़ों सहकारी जन कार्यक्रम में आभासी रूप से शामिल होंगे। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण 25 सितम्बर 2021 को प्रातः 11 बजे से इफको, भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ, अमूल, सहकार भारती, नैफेड, कृभको के आधिकारिक सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एवं अन्य माध्यमों से किया जाएगा जिससे देश एवं विदेश के करोड़ों लोग इस कार्यक्रम को देखेंगे।

हाल ही में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सहकारिता मंत्रालय का गठन किया गया है और मंत्रालय की बागडोर अमित शाह जी को सौंपी गयी। देश में सहकारिता आंदोलन को मज़बूत करने के लिए एक अलग प्रशासनिक, कानूनी और नीतिगत ढांचा प्रदान करने, सहकारी समितियों को जमीनी स्तर तक पहुँचाने वाले एक जन आधारित आंदोलन के रूप में मज़बूत करने में मदद करने एवं सहकारी समितियों के लिए ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस’ के लिए प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करने और बहु-राज्य सहकारी समितियों (MSCS) के विकास को सक्षम करने के लिए गठित सहकारिता मंत्रालय का मूल मंत्र है ‘सहकार से समृद्धि’।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें