कोरोना पॉजिटिव कल्याण सिंह लखनऊ PGI से गाजियाबाद के यशोदा अस्पताल में शिफ्ट

Smart News Team, Last updated: 16/09/2020 09:30 PM IST
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को पीजीआई लखनऊ से गाजियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल कौशांबी में भर्ती कराया गया. पीजीआई लखनऊ से उनको गाजियाबाद एयर एंबुलेंस के जरिए लाया गया.
पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को यशोदा कौशांबी अस्पताल लाते चिकित्सा सहायककर्मी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री को कल्याण सिंह को पीजीआई लखनऊ से गाजियाबाद के यशोदा हॉस्पिटल कौशांबी में भर्ती किया गया. उनको एयर एंबुलेंस से लखनऊ से गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस लाया गया. कौशांबी अस्पताल में उनको कोविड वॉर्ड में भर्ती किया गया है.

88 वर्षीय कल्याण सिंह की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद लखनऊ के पीजीआई में भर्ती किया गया था. बुधवार को उनको वहां से गाजियाबाद के यशोदा अस्पताल लाया गया. मिली जानकारी के अनुसार कल्याण सिंह को पीजीआई से एम्बुलेंस के जरिए एयरपोर्ट लाया गया. वहां वीआईपी हैंगर में पहले से प्रतीक्षारत चार्टर एयर एम्बुलेंस 3 बजकर 40 मिनट पर उनको लेकर दिल्ली के लिए उड़ गई. एम्बुलेंस से उतरने के बाद कल्याण सिंह को एयर एम्बुलेंस तक व्हील चेयर से लाया गया. प्लेन में बैठते समय उन्होंने जिद करके सुरक्षाकर्मियों का सहारा लिया और अपने कदमों पर आगे बढकर विमान में बैठे.

बेरोजगारी के खिलाफ शिवपाल यादव की प्रसपा की लखनऊ से दिल्ली तक साइकिल रैली

पीजीआई लखनऊ के निदेशक डॉ. राधाकृष्ण धीमान ने बताया कि कि पूर्व सीएम की तबियत ठीक है. परिजनों की सहमति पर पूर्व सीएम गाजियाबाद गए हैं. हालांकि पूर्व सीएम कल्याण सिंह ने मंगलवार को पीजीआई के डॉक्टरों से खुद की तबियत सही बताते हुए घर जाने की इच्छा जताई थी. राधाकृष्ण ने कहा कि कल्याण सिंह के परिजनों ने पीजीआई प्रशासन से बात करके पूर्व मुख्यमंत्री की छुट्टी कराकर गाजियाबाद के किसी निजी अस्पताल ले जाने बात कही. जिसके बाद पीजीआई प्रशासन ने उनकी छुट्टी कर दी.

लखनऊ पीजीआई में भर्ती कोरोना पॉजिटिव पूर्व सीएम कल्याण सिंह की हालत स्थिर

मंगलवार सुबह एसजीपीजीआई ने एक बयान जारी करते हुए बताया था कि पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की तबियत स्थिर है. उनके स्वास्थ्य में कुछ सुधार भी देखा गया था. पूर्व मुख्यमंत्री पीजीआई लखनऊ में चौबीसों घंटों डॉक्टरों की निगरानी में थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें