लखनऊ में कोरोना के नए खेल का भंडाफोड़, कोरोना के फ़र्जी मरीज आए सामने

Smart News Team, Last updated: 05/10/2020 10:23 PM IST
  • लखनऊ में 38 मरीजों ने मोबाइल नंबर बदलकर दोबारा निजी लैब से जांच कराया. लिहाजा पॉजिटिव आने पर निजी लैब द्वारा कोविड पोर्टल पर उन्हीं मरीजों का दोबारा नाम दर्ज कर दिया गया.
लखनऊ में कोरोना के नए खेल का भंडाफोड़

लखनऊ । लखनऊ में शनिवार को कोरोना के 54 हजार 491 मरीज हो गए. वहीं 725 मरीज बीमारी से जान भी गंवा चुके हैं. कांटेक्ट ट्रेसिंग-टेस्टिंग पर पूरी ताकत झोंकने पर भी अफसर वायरस पर नियंत्रण पाने में नाकाम हो रहे हैं. लिहाजा नव नियुक्त सीएमओ डॉ. संजय भटनागर ने वर्तमान में सर्वाधिक केस पाए जाने वाले इलाकों को ट्रेस किया. ऐसे में शुक्रवार को अलीगंज में रिकॉर्ड तोड़ 24 घंटे में 131 केस निकले है.

लखनऊ में कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार तेजी के साथ बढ़ता ही जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग की लाख कोशिशों के बावजूद भी कोई ख़ास कमी नज़र नही आ रही. सरकार-अफसर वायरस को लेकर हलकान हैं उसके नियंत्रण को लेकर तमाम जतन किए जा रहे हैं. बावजूद हर रोज मिल रहे सैकड़ों मरीज रणनीति पर पानी फेर रहे हैं.

CM योगी का UP पुलिस को सख्त आदेश, महिलाओं से जुड़े मामलों में रहें संवेदनशील

वहीं अब मरीजों की भारी तादाद के बीच नए खेल का भंडाफोड़ हुआ है. महीनों से घनचक्कर बने अफसरों को कोरोना के नकली मरीजों की खेप मिली है. ऐसे में अब सभी केस के वेरीफिकेशन के निर्देश दिए गए हैं.

ऐसे में बीएमसी द्वारा मरीजों के किए गए टेस्ट व कोविड पोर्टल पर दर्शा रहे केस को वेरीफिकेशन किया. इसमें 38 मरीजों ने मोबाइल नंबर बदलकर दोबारा निजी लैब से जांच कराया. लिहाजा पॉजिटिव आने पर निजी लैब द्वारा कोविड पोर्टल पर उन्हीं मरीजों का दोबारा नाम दर्ज कर दिया गया. ऐसे में सीएमओ ने कोरोना के सभी मरीजों का दोबारा वेरीफिकेशन करने को कहा साथ ही नकली मरीजों की लिस्ट तैयार कर शासन को भेजी जाएगी ताकि उनका भी नाम हटाया जा सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें