इलेक्शन बूथ की तरह ही बनेंगे कोरोना टीकाकरण बूथ

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 05:19 PM IST
  • स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार भारत सरकार और नीति आयोग ने मिलकर कोविड-19 टीकाकरण के लिए एक विस्तृत कार्य योजना तैयार की है.
( सांकेतिंक फोटो )

लखनऊ: प्रदेश में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इलेक्शन बूथ की तरह ही टीकाकरण बूथ बनाए जाएंगे. केंद्र सरकार ने राज्यों को कोविड-19 टीकाकरण के लिए चुनाव व पोलियो सहित अन्य राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के अनुभव को इस्तेमाल करने की सलाह दी है. इन बूथों पर टीका लगाने वाले दो विशेषज्ञ, दो सहायक और स्वयंसेवी तैनात किए जाएंगे. एक बूथ पर अधिकतम 100 लोगों के टीकाकरण की योजना है.

स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार भारत सरकार और नीति आयोग ने मिलकर कोविड-19 टीकाकरण के लिए एक विस्तृत कार्य योजना तैयार की है. इसमें वैक्सीन के भंडारण, कोल्ड चेन, वितरण व टीकाकरण को शामिल किया गया है. पीएम मोदी ने भी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से नीति आयोग व केंद्र सरकार द्वारा बनाई गई योजना पर चर्चा की थी.

कॉन्वेंट स्कूलों को टक्कर देंगे लखनऊ के सैकड़ों प्राइमरी स्कूल

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो एक बूथ पर दो वैक्सीनेटर होंगे. इनमें एएमएम, नर्स, एमपीडब्लू, फार्मासिस्ट में से कोई दो हो सकते हैं. इसके अलावा एक सहायक डाटा और रिकॉर्ड के लिए होगा. एक सहायक लॉजिस्टिक तैयारियों के लिए होगा. बूथ पर भीड़ प्रबंधन के लिए दो से तीन लोग लगाए जाएंगे. यह मानव संसाधन एनसीसी या फिर अन्य स्वयंसेवक हो सकते हैं. टीकाकरण लाभार्थी को पंजीकरण की जानकारी एसएमएस से दी जाएगी. टीका लगने के बाद क्यू आर बेस्ड इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिया जाएगा.

अब बाघ एक्सप्रेस 31 जनवरी और हिमगिरी दो फरवरी तक चलेगी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें