Omicron Attack: ट्रेन में सफर करने वाले बरतें ये 7 सावधानियां, नहीं तो पड़ेगा भुगतना

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Fri, 3rd Dec 2021, 8:33 AM IST
  • लखनऊ मंडल डीआरएम ने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि स्टेशनों पर व यात्रा के दौरान सभी रेलवे कर्मी खुद भी ये 7 सावधानियां बरतें और यात्रियों से भी बरतने को कहें. नहीं तो जुर्माना भरना पड़ेगा. साथ ही कोविड-19 गाइडलाइन का हर हाल में पालन करने को भी कहा है. 
प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ. दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल समेत अन्य गैर राज्यों से उत्तर प्रदेश आने वाले रेल यात्रियों को हर हाल में इन 7 सावधानियों को अपनाना होगा. स्टेशनों पर व यात्रा के दौरान ट्रेन में भी कोविड गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया है. सावधानी न बरतने वाले यात्रियों को जुर्माना भी भरना पड़ सकता है. इस संबंध में पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मंडल की रेल प्रबंधक (DRM) ने सख्त चेतावनी दी है और कहा है कि यात्रियों को कोविड-19 गाइडलाइन का हर हाल में पालन करना होगा. साथ ही कोविड संबंधी यात्रियों को यात्रा के दौरान 7 सावधानियां बरतने का दिशा निर्देश भी दिया है. यह फैसला कोरोना के नए ओमीक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है.

यात्रियों को बरतना होगा ये 7 सावधानियां

रेलवे स्टेशन पर बिना मास्क के रेल यात्रियों की एंट्री नहीं होगी.

कोविड-19 गाइडलाइन का हर हाल में करना होगा पालन यदि इसमें रेल यात्री लापरवाही बरतेंगें तो 100 रूपए जुर्माना भरना होगा.

रेलवे स्टेशनों के प्लेटफार्म पर यात्री झुंड में नहीं बैठ सकेंगे.

खांसी, बुखार व सांस लेने में दिक्कत हो रही हो तो रेलवे स्टेशन पर जाने से पहले कोरोना की टेस्ट जरूर कराएं.

मोबाइल, फोन, कपड़े व बिस्तर किसी से साझा न करें.

रेलकर्मी खुद व रेल यात्रियों से भी कोविड गाइडलाइन का पालन करवाएं.

रेलवे परिसर या यात्रा के दौरान तबीयत खराब होने पर रेलवे हेल्पलाइन नंबर 139 पर संपर्क करें.

Video: दारोगा की कार से गाड़ियों में टक्कर, गुस्से में थप्पड़ जड़ने वाला युवक गिरफ्तार

डीआरएम ने लिखा पत्र, स्टेशनों पर जांच टीमें बढ़ाई जाए

पूर्वोत्तर रेलवे की डीआरएम डॉ मोनिका अग्निहोत्री ने कहा कि वर्तमान में गैर राज्यों से आने वाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या बढ़ रही है ऐसे में स्टेशनों पर कोरोना टेस्ट करने वाली टीमें कम संख्या में तैनात है. उन्होंने बताया इस संबंध में लखनऊ जिलाधिकारी और स्वास्थ्य विभाग को पत्र भेजकर जांच टीमें और तैनात करने के लिए कहा गया है.  दरअसल जांच टीमों में कमी के चलते यात्री ट्रेन से उतरने के बाद बिना कोरोना टेस्ट कराए अपने अपने ठिकानों को जा रहे हैं.

इस पर लखनऊ डीएम अभिषेक प्रकाश ने भी बृहस्पतिवार दोपहर राजधानी के चारबाग स्टेशन पर कोविड-19 को लेकर किए गए इंतजाम का निरीक्षण किया. इस दौरान डीएम ने स्टेशनों पर लगातार सैनिटाइजेशन करने को कहा. हालांकि निरीक्षण करते वक्त डीएम को स्टेशनों पर लोगों की फोकस स्क्रीनिंग होते नहीं मिली. डीएम अभिषेक ने अधिकारियों से कहा है कि स्टेशन पर मास्क पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराने और इन सब में लापरवाही बरतने वालों पर कार्यवाही की जाए.

सोना उगलेगा UP! खदानों में खुदाई के लिए योगी सरकार का प्लान, निकालेंगे बहुमुल्य खनिज

केरल से 6 ट्रेनें हर रोज करीब 5000 यात्रीयों को लेकर आ रही हैं यूपी

बता दें कि एर्नाकुलम समेत केरल के अन्य जिलों से सप्ताह में 6 ट्रेनें  उत्तर प्रदेश (पूर्वोत्तर रेलवे) के लिए चल रही है. जिनमें करीब 5000 रेल यात्री यूपी अपनेे घर के लिए आ रहे हैं. पर इन यात्रियों के घर पहुंचने से पहले इनकी कोविड संबंधी टेस्ट रेलवे स्टेशनो पर नहीं हो रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें