फर्जी डिग्री मामले में डिप्टी CM केशव मौर्य को मिली राहत, कोर्ट ने सभी आरोपों को किया खारिज

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Sat, 4th Sep 2021, 11:59 PM IST
  • उत्तर प्रदेश उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ फर्जी डिग्री मामले में FIR दर्ज करवाने के लिए दी गई अर्जी को अदालत ने खारिज कर दिया है. साथ ही अन्य दो आरोपो पर भी कोर्ट ने अपना मत देते हुए खारिज कर दिया है.
फर्जी डिग्री मामले में डिप्टी CM केशव मौर्य को मिली राहत कोर्ट ने सभी आरोपों को किया खारिज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को फर्जी डिग्री मामले में अदालत ने राहत दी है. कोर्ट ने FIR दर्ज करवाने के लिए दी गई अर्जी को खारिज कर दिया है. जिसे खारिज करने के आदेश अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नम्रता सिंह ने RTI एक्टिविस्ट दिवाकर नाथ त्रिपाठी के वकील के तर्कों को सुनने और कैंट थॉन की आख्या का अवलोकन करने के बाद दिया. साथ ही कहा कि जब तक अपराध का प्रथम दृष्टया नहीं हो तब तक FIR दर्ज करने का आदेश नहीं दिया जाना चाहिए. 

इसके साथ ही अदालत ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के ऊपर लगाए गए एक एक आरोप पर अपना मत व्यक्त किया. साथ ही उन्हें खारिज कर दिया. अदालत ने पहले आरोप पर कहा कि जिस अंकपत्र के आधार पर प्रार्थना पत्र दिया गया है वह फोटोस्टेट कॉपी है. जिसकी प्रमाणित सत्य प्रतिलिपि अदालत में प्रस्तुत नहीं कोय गया है. साथ ही अदालत के अवलोकन के लिए पेश किया गया है. जिससे साफ पता चलता है कि जिसका यह फोटोस्टेट है उसका मूल अस्तित्व भी है.

UP में सड़कों पर कूड़ा फेंकना पड़ेगा भारी, लगेगा भारी जुर्माना

वहीं दूसरे आरोप इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन से पंप लेने वाले मामले पर कहा कि प्रार्थना पत्र में यह नहीं कहा गया है कि जिस कागजात से पंप लिया गया है वह फर्जी है. साथ ही इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की तरफ से इस संबंध में कोई शिकायत भी नहीं किया गया है. साथ ही केशव प्रसाद मौर्य के तीसरे आरोप को भी अदालत ने खारिज कर दिया है. जिसमें केशव प्रसाद मौर्य पर यह आरोप लगाया गया था कि चुनाव आयोग में नामांकन पत्र के साथ जो शपथ पत्र दिया गया है वह फर्जी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें