Covid Omicron: कोरोना का डर! राजनीतिक दल BJP, सपा और कांग्रेस की चुनावी रैलियां कैंसल

Haimendra Singh, Last updated: Thu, 6th Jan 2022, 9:49 AM IST
  • भाजपा, सपा और कांग्रेस आगामी दिनों में होने वाली रैलियों या रथ यात्राओं को रद्द कर दिया है. इसके पिछले कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को वजह बताया जा रहा है. बता दें कि पीएम मोदी 9 जनवरी को लखनऊ में रैली को संबोधित करने वाले थे.
राजनीतिक दल भाजपा, सपा और कांग्रेस ने रद्द की चुनावी रैलियां.

लखनऊ. देशभर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. कोविड संक्रमण को देखते हुए सियासी दलों ने अपनी चुनावी रैलियों को रद्द करने का फैसला किया है. भारतीय जनता पार्टी ने 9 जनवरी को लखनऊ में होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रैली को रद्द  कर दिया है. वही समाजवादी पार्टी ने 7 से 9 जनवरी तक गोंडा, बस्ती और अयोध्या होने वाली विजय रथ यात्रा को निरस्त कर दिया है. इसके अलावा कांग्रेस ने अपनी रैलियों को स्थागित करने का फैसला किया है.

मिशन 2022 के लिए 9 जनवरी को भाजपा की लखनऊ में होने वाली रैली को काफी खास माना जा रहा था. पीएम मोदी इस रैली में जनता को संबोधित करने वाले थे. जानकारों का मानना था कि इस रैली से पीएम विधानसभा चुनाव 2022 का चुनावी बिगुल फूंक सकते हैं. ऐसा माना जा रहा था कि इस रैली में पीएम मोदी यूपी की जनता को कोई बड़ी सौगात मिल सकती थी. हालांकि अभी तक पार्टी की ओर से इस रैली को रद्द करने का कोई स्पष्ट कारण नहीं दिया गया है. उम्मीद जताई जा रही है कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए ये फैसला लिया गया.

यूपी में एक बार फिर प्रशासनिक फेरबदल, 7 आईपीएस अफसरों के हुए तबादले

सपा की विजय रथ यात्रा स्थगित

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव 7 से 9 जनवरी के बीच अयोध्या, गोंडा और बस्ती में विजय रथ यात्रा करने वाले थे, लेकिन अब इस रथयात्रा को स्थगित कर दिया गया है. इसके अलावा कांग्रेस महासचिव (संगठन) के सी गोपाल ने बड़ी रैलियों को स्थगित करने का फैसला किया है.

डिजिटल मोड में हो सकती हैं रैलियां

देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को देखते हुए सभी राजनीतिक पार्टियां डिजिटल मोड में रैलियां करने का फैसला ले सकती हैं. अभी तक चुनाव आयोग के द्वारा चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है. आयोग घोषणा के बाद पांचों राज्यों में आचार संहिता लग जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें