लखनऊ: श्मशान घाट हो रहे फुल,अंतिम संस्कार को दूसरे जिलों से मंगानी पड़ रही लकड़ी

Smart News Team, Last updated: Mon, 12th Apr 2021, 5:07 PM IST
लखनऊ में शवों से श्मशान घाट फुल हो रहे हैं. अंतिम संस्कार के लिए दूसरे जिलों से लकड़ियां मंगाने पढ़ रही हैं. रविवार को सीतापुर से 8 ट्रक लकड़ी मंगवाई गई है. लोगों को लाइन से बचाने के लिए पहले से प्लेटफार्म तैयार करवाए जा रहे हैं.
लखनऊ में अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट फुल हो रहे हैं .

लखनऊ. प्रदेश की राजधानी में कोरोना के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं. हालात इतनी बदतर हो गए हैं कि श्मशान घाट फुल हो रहे हैं. अंतिम संस्कार के लिए दूसरे जिलों से लकड़ियां मंगानी पढ़ रहे हैं. रविवार को बैकुंठ धाम और गुलाला घाट पर कोई 142 चौक पहुंचे जिनमें से 180 शव का अंतिम संस्कार लकड़ी से किया गया. इनमें 38 शव कोरोना संक्रमित में थे. रविवार को सीतापुर से 8 ट्रक लकड़ी मंगाई गई.

जानकारी के अनुसार रविवार को बैकुंठ धाम में कुल 87 शव पहुंचे. इनमें से 37 शव कोरोना संक्रमित और 50 गैर कोरोना संक्रमित थे. 10 कोरोना संक्रमित शवों का विद्युत शवहाह गृह पर अंतिम संस्कार किया गया जबकि 27 शवों का अंतिम संस्कार लकड़ी से किया गया. इसके लिए बैकुंठ धाम पर प्लेटफॉर्म रिजर्व किए गए. इस व्यवस्था से यहां पर लग रही लाइन समाप्त हो गई. शाम 6 बजे तक यहां पर कोई भी शव अंतिम संस्कार के लिए नहीं बचा. वहीं, गुलाला घाट पर कुल 55 शवों में 25 कोरोना संक्रमित और 30 गैर कोरोना संक्रमित थे. कोरोना संक्रमित में 14 शवों का अंतिम संस्कार विद्युत शवदाह गृह में और 11 का लकड़ियों के माध्यम से किया गया. यहां भी अब वेटिंग खत्म हो गई है.

राजधानी लखनऊ में बढ़ते कोरोना से 950 इलाकों में बैरिकेडिंग, 1091 घर सील

गौरतलब है कि शवों की संख्या बढ़ने से लकड़ी का संकट पैदा हो गया था. सामान्य तौर पर दो ट्रक लकड़ी की खपत होती थी लेकिन अब 5-6 ट्रक लकड़ियां लग रही है. लखनऊ में कहीं लकड़ी नहीं मिली तो सीतापुर के सिधौली से लकड़ी मंगानी पड़ी. आठ ट्रक लकड़ी मंगाकर अब दोनों घाटों पर रखवा दिया गया है. इसके अलावा कान्हा उपवन के कंडों का भी उपयोग किया जा रहा है. रविवार को तीन हाइवा कंडे मंगाए गए. इसमें दो हाइवा कंडे बैकुंठ धाम और एक हाइवा कंडे गुलाला घाट पर रखवाए गए. कोरोना संक्रमित शवों को दाहसंस्कार का खर्च नगर निगम उठा रहा है. ज्ञात हो कि बैकुंठ धाम पर सोमवार के लिए 50 प्लेटफार्म पहले से तैयार करवा दिए गए हैं. सभी पर लकड़ी रखवा दी गई है. इसी तरह गुलाला घाट पर भी 10 प्लेटफार्म पहले से तैयार करवाए गए हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें