यूपी: पाला पड़ने से फसलों को हो सकता है नुकसान, मौसम विभाग ने जताई आशंका

Smart News Team, Last updated: Sun, 31st Jan 2021, 8:08 PM IST
मौसम विभाग में आशंका जताई है कि प्रदेश में अत्यधिक ठंड पड़ने से फसलों में पाला पड़ सकता है. फसलों को नुकसान हो सकता है. पिछले एक पखवाड़े से उत्तर प्रदेश में भयंकर ठंड पड़ रही है. हालांकि पिछले 2 दिन से दिन में धूप निकल रही है लेकिन रात के तापमान में गिरावट जारी है.
उत्तर प्रदेश में पाला पड़ने से फसलों को नुकसान हो सकता है.

लखनऊ. यूपी में मौसम विभाग में पाला पड़ने की आशंका जताई है इससे फसलों को नुकसान हो सकता है. मौसम विभाग का कहना है कि प्रदेश में ठंड अभी कुछ दिनों तक और जारी रहेगी. ऐसे में पाला पड़ने की आशंका भी है. विभाग ने कहा कि यदि हाड़ कंपा देने वाली ठंड कुछ दिन और रही तो गेहूं को छोड़ बाकी फसलों को नुकसान पहुंच सकता है.

आपको बता दें कि पिछले 15 दिनों से उत्तर प्रदेश में कड़ाके की ठंड पड़ रही है हालांकि पिछले दो दिनों में धूप निकल रही है लेकिन रात के तापमान में अभी भी गिरावट जारी है. कड़ाके की ठंड से अभी तो कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. कुछ दिन पहले अचानक से तापमान में बढ़ोतरी होने लगी थी और दिन का पारा 27 डिग्री पहुंच गया था जिससे कीट पतंगों के प्रकोप की आशंका बढ़ गई थी.

दिल्ली से UP-बिहार जाने वाली कई स्पेशल ट्रेनें 28 फरवरी तक कैंसिल, नया शेड्यूल

कृषि विशेषज्ञ डॉक्टर विष्णु प्रताप सिंह ने बताया कि ठंड अधिक होने के कारण दलहन विशेषकर चना- मटर को फली छेदक कीट से सुरक्षा मिली है वहीं राई-सरसों पर भी माहू कीट का कोई प्रकोप नहीं हो सका है. उनका यह भी कहना है कि न्यूनतम तापमान है 5 डिग्री सेल्सियस से लगातार नीचे रहने से फसलों को भारी नुकसान पहुंचता है. पारा 5 डिग्री से नीचे जाने के बाद फसलों के सेल्स फटने लगते हैं और पौधा मर जाता है. ऐसे में उत्पादन भी प्रभावित हो जाता है.

UP पंचायत चुनाव: आरक्षण रोटेशन पर होगा, यूपी राजमंत्री ने बताया तैयारियों का अपडेट

उद्यान निदेशक डॉक्टर आर के तोमर ने बताया कि आलू की फसल को कुछ दिनों पहले हुए बूंदाबांदी से नुकसान की आशंका बढ़ गई थी लेकिन अब सब ठीक है. यदि मौसम की वजह से पाला पड़ता है तो आलू की फसल को नुकसान पहुंचा सकता है. उन्होंने यह भी कहा कि धूप निकलने से तापमान बढ़ रहा है, यह अच्छे संकेत हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें