जयपुर के SS जैन कॉलेज को हराकर DAV जालंधर ने जीता रेड बुल कैंपस क्रिकेट टूर्नामेंट

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 07:51 PM IST
  • रेड बुल कैंपस क्रिकेट प्रतियोगिता के फाइनल में डीएवी कॉलेज जालंधर ने एसएस जैन कॉलेज जयपुर को 8 रनों से हराकर टूर्नामेंट जीता. फाइनल मैच के हीरो रहे प्रेरिता गुप्ता को मैन ऑफ द् मैच मिला और जालंधर के आदित्य प्रताप मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहे.
डीएवी जालंधर ने एसएस जैन काॅलेज जयपुर का हरकार जीती रेड बुल कैंपस क्रिकेट की ट्रॉफी.

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ में हुई रेड बुल कैंपस क्रिकेट टूर्नामेंट को डीएवी कॉलेज जालंधर ने जीत लिया है. फाइनल मैच में डीएवी कॉलेज जालंधर ने जयपुर के एसएस जैन कॉलेज को 8 रनों से हराकर ट्रॉफी अपने नाम की. शानदार प्रदर्शन करने वाले जालंधर को प्रेरित दत्ता को मैन ऑफ द् मैच मिला. वहीं जालंधर के आदित्य प्रताप मैन ऑफ द् टर्नामेंट बने.

रेड बुल कैंपस क्रिकेट प्रतियोगिता का फाइनल शुक्रवार को लखनऊ के अटल बिहारी बाजपेयी अंतर्राष्ट्रीय इकाना स्टेडियम में खेला गया. फाइनल मैच में डीएवी जालंधर ने पहले बल्लेबाजी की. पहले बैटिंग करते हुए डीएवी जालंधर ने 20 ओवर में सभी विकेट खोकर 120 रन बनाए. डीएवी जालंधर की ओर से प्रेरित दत्ता ने 23 और गौरव चैधरी ने 22 रनों को योगदान दिया. जयपुर की ओर से बेहतरीन गेंदबाजी हुई. जयपुर के गेंदबाज सौरभ बदसारा ने 16 रन देकर पांच बल्लेबाजों को आउट किया. 

ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप के खिलाड़ी चयन के लिए AFI चलाएगा राज्य स्तर पर अभियान

जयपुर को जीतने के लिए 121 रन बनाने थे. इसके जवाब में जयपुर की एसएस जैन कॉलेज की टीम 20 ओवर में 9 विकेट खोकर 112 रन ही बना पाई. जयपुर की ओर से राजवीर सिंह ने सबसे ज्यादा 24 रन बनाए. जालंधर की ओर से प्रेरित दत्ता ने गेंदबाजी में भी कमाल किया. प्रेरित ने 19 रन देकर जयपुर के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा. इसके अलावा केशव शर्मा ने 25 रन देकर दो विकेट लिए.

UP सरकार का ऐलान, 5 अर्जुन और 1 द्रोणाचार्य विजेता को मिलेंगे हर महीने 20 हजार

डीएवी कॉलेज जालंधर ने एसएस जैन कॉलेज जयपुर को 8 रनों से हराकर खिताब अपने नाम किया. फाइनल मैच का मैन ऑफ द मैच प्रेरित दत्ता को मिला. वहीं मैन ऑफ द् टूर्नामेंट जालंधर के जसवीर सिंह को मिला. इसके अलावा टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज जालंधर के जसवीर सिंह और सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज जयपुर के आशीष रहे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें