अस्पताल में छात्रा की मौत पर हंगामा, परिजनों का डॉक्टरों पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप

Swati Gautam, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 12:47 PM IST
  • सिविल अस्पताल की इमरजेंसी में सोमवार सुबह छात्रा की मौत होने से परिजनों ने हंगामा कर दिया. परिजनों ने कहा कि पूरी रात छात्रा को इलाज नहीं दिया गया और सुबह डॉक्टरों ने एक इंजेक्शन लगाया जिसके 10 मिनट बाद छात्रा की मौत हो गई. परिजन छात्रा के शव का पोस्टमार्टम कराने के मांग कर रहे है वहीं डॉक्टर इनकार कर रहे हैं.
सिविल अस्पताल में छात्रा की मौत पर हंगामा, परिजनों का डॉक्टरों पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप. file photo

लखनऊ. सिविल अस्पताल की इमरजेंसी में सोमवार सुबह एक छात्रा की मौत होने से हड़कंप मचा गया. छात्रा के परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने पहले तो पूरी रात छात्रा का इलाज नहीं किया और सुबह एक इंजेक्शन लगाया जिसके 10 मिनट बाद ही पूजा की मौत हो गई. परिजन छात्रा के शव का पोस्टमार्टम कराने की मांग कर रहे है वहीं डॉक्टर इनकार कर रहे हैं. डॉक्टरों का कहना है कि उन्होंने छात्रा को प्राप्त इलाज दिया है. बता दे कि पूजा बीए तृतीय वर्ष की छात्रा थी.

डॉक्टरों से खफा परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया. जिसके बाद पुलिस को इस घटना की सूचना दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को शांत कराने का प्रयास किया. बालागंज निवासी मृतक की बहन निशा ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि उसकी बहन पूजा को रविवार रात पेट दर्द होने लगा जिसके बाद रात साढ़े आठ बजे पूजा को सिविल अस्पताल लेकर आये थे. निशा ने कहा कि रात भर पूजा दर्द से बिलखती रही लेकिन इमरजेंसी में भी डॉक्टरों ने कोई इलाज नहीं किया.

एक ही लड़के पर तीन सगी बहनों का आया दिल, तीनों बहने युवक के साथ फरार

निशा ने आगे कहा कि सुबह डॉक्टर आए और पूजा को एक इंजेक्शन दे दिया. इंजेक्शन लगाने के 10 मिनट बाद ही उसकी सांसें थम गईं. छात्रा की मौत के बाद से पतिजनोंमे आक्रोश है. छात्रा के पिता ने जांच की मांग उठायी है. इमरजेंसी के डॉक्टरों ने सफाई देते हुए कहा है कि मरीज को समुचित इलाज दिया गया है. वहीं छात्रा के परिजन पोस्टमार्टम की मांग कर रहे हैं जबकि डॉक्टर पोस्टमार्टम से इनकार कर रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें