रक्षा मंत्री ने रखी सुपर स्पेशियलिटी की नींव, सेना के जवानों का होगा इलाज

Smart News Team, Last updated: 17/01/2021 03:01 PM IST
  • मध्य कमान के बेस अस्पताल की जमीन पर न्यू कमांड अस्पताल की बिल्डिंग की आधारशिला रखी. 888 बेड का अस्पताल मल्टीस्पेशलिटी होगा. यहां पर सेना के नौ लाख जवानों व उनके परिजनों को इलाज की बेहतरीन सुविधाएं मिलेगी.
सेना को मिला 888 बेड का नया अस्पताल

लखनऊ. 162 वर्ष से सेवा दे रहा था पुराना मध्य कमान अस्पताल. 1859 में बना था. केंद्रीय रक्षा मंत्री ने शनिवार को मध्य कमान के बेस अस्पताल की जमीन पर न्यू कमांड अस्पताल की बिल्डिंग की आधारशिला रखी. यह 888 बेड का अस्पताल मल्टीस्पेशलिटी होगा. यहां पर सेना के नौ लाख जवानों व उनके परिजनों को इलाज की बेहतरीन सुविधाएं मिलेगी. यह अस्पताल 4 साल में तैयार हो जाएगा. इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सेना अध्यक्ष जनरल एमएम नरवने मध्य कमान सेनाध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल आईएस धूमन भी मौजूद रहे. 

अस्पताल के निर्माण में लगभग 425 करोड रुपए का लागत का अनुमान है. कमान अस्पताल का नया भवन 40 एकड़ में फैला होगा. भवन में 4 शाखाओं के छह खंड होंगे,जो अलग-अलग 3 से 9 मंजिला तक होंगे. यह अस्पताल आधुनिक इंटरवेंशनल कैथोटेराइजेशन लैब, एक हाइब्रिड ऑपरेशन थिएटर के साथ मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर, स्टेट ऑफ द आर्ट नेफ्रोलॉजी एंड डायलिसिस सेंटर और कंपोजिट्स आंकोलॉजी सेंटर के साथ सभी विशेषताएं और उप-विशेषताओं के साथ विशेष रूप से कार्डियोलॉजी की सुविधा से सुसज्जित होगा. काॅमप्लेक्स में लिफ्ट, रैंप की सुविधा होंगी. साथ ही 750 कारों के लिए पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी.

फ्लैट एरिया बढ़ाने के नामपर बिल्डर ज्यादा पैसे नहीं वसूल सकते: सुप्रीम कोर्ट

100 इमरजेंसी बेड होंगे

मध्य कमान सेनाध्यक्ष ने बताया कि नए मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में 788 बेड और 100 इमरजेंसी बेड होंगे. यह अस्पताल लगभग 6 लाख जवानों को कवर करेगा. इस अस्पताल से 22 मिलट्री स्टेशन और दो वायुसेना स्टेशन जुड़ेंगे. साथ ही नर्सिंग कॉलेज डेंटल के लिए भी कॉलेज की तरह काम करेगा. पिछले 8 महीने में लगे पेड़ों को काटने के बजाए शिफ्ट किया जाएगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ ने रखी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल की आधारशिला, सेना के जवानों का होगा इलाज

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्र के प्रति सेवा के लिए रक्षा बलों के प्रति आभार व्यक्त किया. उन्होंने पिछले साल भारत-चीन सीमा मुद्दे के दौरान भारतीय रक्षा बलों के चमत्कारी प्रयासों की सराहना की. कहा कि चीन को मुंहतोड़ जवाब देकर सेना के ने देश का सिर ऊंचा किया. रक्षाबालों का आचरण पूरे राष्ट्र के लिए प्रेरणा स्रोत हैं. उन्होंने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण शुरू हो गया है. 

UPSHEC ने विशेषज्ञों से पाठ्यक्रम को लेकर मांगे सुझाव, नई शिक्षा नीति होगी लागू

भारत में 2 स्वदेशी वैक्सीन उपलब्ध हैं. चार अन्य वैक्सीन आने वाली है. यह वैक्सीन सिर्फ भारतीयों को ही नहीं बल्कि अन्य देश के लोगों को भी उपलब्ध होंगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय सेना की बहादुरी और वीरता के साथ कोविड-19 प्रबंध में घनिष्ठ समनव्य की भी सराहना की. उन्होंने कहा कि सशस्त्र बलों का अनुशासन संगठन और प्रतिबद्धता हम सभी को प्रेरित करती है.

अजीत सिंह हत्याकांड: UP पुलिस ने घोषित की शूटरों के मददगार अंकुर व बंधन पर इनाम

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें