लखनऊ: टिकट न मिलने से नाराज नेता ने सपा कार्यालय के बाहर किया आत्मदाह का प्रयास

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 16th Jan 2022, 1:10 PM IST
  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में समाजवादी पार्टी से अलीगढ़ की छर्रा विधानसभा से टिकट मांग रहे आदित्य ठाकुर ने लखनऊ में सपा कार्यालय के सामने आत्मदाह का प्रयास किया है. सपा द्वारा टिकट न मिलने से नाराज ठाकुर आदित्य ने अपने ऊपर पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश की.
टिकट न मिलने से नाराज सपा नेता ठाकुर आदित्य का आत्मदाह का प्रयास

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में टिकट ने मिलने पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता ने आज रविवार को लखनऊ में सपा कार्यालय के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया. अलीगढ़ के सपा नेता आदित्य ठाकुर ने लखनऊ में सपा कार्यालय के बाहर पेट्रोल में डुबो लिया और खुद को आग लगाने का प्रयास किया. इस बीच लोगों ने आदित्य ठाकुर को पकड़ लिया और आग लगाने से रोक लिया. वहीं पुलिस ने इन्हें हिरासत में लिया है. इस दौरान रोते हुए आदित्य ठाकुर ने मीडियाकर्मियों से कहा, मैं आज यहां अपनी जान लूंगा, चाहे कुछ भी हो जाए. आप मुझे जेल में डाल देने पर भी मुझे रोक नहीं सकते मुझे न्याय चाहिए. इसके साथ ही आप वीडियो में ठाकुर को पार्टी से उनका टिकट लूटने और बाहरी लोगों को देने का आरोप लगाते हुए सुना जा सकता है. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि उनका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है, लेकिन फिर भी उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया.

सपा नेता आदित्य ठाकुर अलीगढ़ के रहने वाले हैं और वह अलीगढ़ की छर्रा विधानसभा से सपा का टिकट मांग रहे थे. हालांकि जब पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया तो उन्होंने सपा कार्यालय के बाहर खुदकुशी की कोशिश की. इस दौरान अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी मैंने सपा पार्टी के लिए बहुत काम किया है, लेकिन फिर भी हमको टिकट नहीं दिया गया.

मुलायम के परिवार में BJP नहीं लगा पाएंगी सेंध, अपर्णा यादव के टिकट बंटवारे को लेकर फंसा पेच !

बता दें कि समाजवादी पार्टी ने अलीगढ़ की छर्रा विधानसभा से किसी प्रत्याशी को मैदान में नहीं उतारा है. लेकिन माना जा रहा है कि इनका नाम टिकट के लिए नहीं है. इससे पहले यूपी के मुजफ्फरनगर से एक बीएसपी नेता अरशद राणा के फूट-फूट कर रोने का वीडियो सामने आया था. अलीगढ़ की छर्रा विधानसभा पर बीजेपी का कब्जा है, साल 2017 में इस सीट से रविंद्रपाल ने जीत दर्ज की थी. इस बार भी बीजेपी ने रविंद्रपाल पर ही दांव खेला है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें