कल्याण सिंह की श्रद्धाजंलि सभा से लौट रहे डिप्टी CM के काफिले की कार आपस में भिड़ी, हादसा टला

Nawab Ali, Last updated: Wed, 1st Sep 2021, 8:03 PM IST
  • उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की त्रियोदशी संस्कार से लौट रहे उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्या के काफिले की गाडियां आपस में टकरा गई. अलीगढ के तालानगरी में यह बड़ा हादसा हुआ है लेकिन दोनों उप मुख्यमंत्री को कोई भी नुक्सान नहीं हुआ है. उप मुख्यमंत्री के काफिले में तेज रफ्तार गाडी के घुसने की वजह से यह हादसा हुआ है.
यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा के काफिले की गाड़ियां आपस में टकराई.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की त्रियोदशी संस्कार से लौट रहे उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या व दिनेश शर्मा के काफीले की गाड़ियां आपस में टकरा गई. काफिले की गाड़ियों के आपस में टकराने के कारण कोई भी बड़ा हादसा होने से टल गया. यह सड़क हादसा यूपी के अलीगढ़ के तालानगरी में हुआ है. खबर है की उपमुख्यमंत्री के काफिले में तेज रफ्तार गाड़ी घुसने कारण गाड़ियां आपस में टकरा गई. पुलिस ने कार चालक को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है.

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्या के काफिले की सुरक्षा में बड़ी चूक सामने आई है. दोनों उपमुख्यमंत्री पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह त्रियोदशी संस्कार से वापस लौट रहे थे. तभी अचानक उपमुख्यमंत्री की फ्लीट में एक तेज रफ्तार गाड़ी घुस गई जिससे फ्लीट के कार चालकों ने इमरजेंसी ब्रेक लगाये. अचानक ब्रेक लगने के कारण फ्लीट की एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियां आपस में टकरा गई. इसी दौरान दोनों उपमुख्यमंत्री आगे की एक ही गाड़ी में बैठे हुए थे. गाड़ियों के आपस में टकराने पर उपमुख्यमंत्री अन्य गाड़ियों के काफिले के साथ आगे बढ़ गए. 

अखिलेश को चाचा शिवपाल का चुनावी तोहफा, सपा की इन सीटों पर कैंडिडेट नहीं उतारेगी प्रसपा

गाड़ियों के आपस में टकराने के कारण तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई. इस हादसे में किसी भी तरह की जनहानि नहीं हुई है. लेकिन एक बड़ा हादसा होने से टल गया है. हादसे के तुरंत बाद सुरक्षा में तैनात पुलिस प्रशासन की गाड़ियां घटना स्थल की ओर दौड़ पड़ी. उपमुख्यमंत्री के काफिले में घुसने वाली तेज राफ्तार कार चालक को पुलिस हिरासत में लेकर जांच में जुट गई है. लेकिन माना जा रहा है की यह सुरक्षा में बड़ी लापरवाही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें