DRI लखनऊ टीम ने प्रयागराज में पकड़ा 3 किलो सोना, कई ठिकानों पर छापे मारे

Smart News Team, Last updated: 01/12/2020 08:13 PM IST
  • लखनऊ की राजस्व ख़ुफ़िया निदेशालय ने प्रयागराज में मंगलवार को छापेमारी कर दो तस्करो के पास से 3 किलो सोना बरामद किया. तस्करो से पूछताछ के बाद डीआरआई की टीम ने नागपुर के कई ठिकानो पर भी छापेमारी कर बड़ी मात्रा में चांदी और रुपए बरामद किए.
डीआरआई लखनऊ टीम ने प्रयागराज में दो तस्करो से 3 किलो सोना पकड़ा

लखनऊ. राजस्व निदेशालय की खुफिया इकाई डीआरआई लखनऊ ने मंगलवार को प्रयागराज में दो तस्करों को पकड़ा. उनके पास से डीआरआई की टीम ने मौके पर तीन किलो सोने के बिस्कुट बरामद किए. डीआरआई ने उन दोनों को अपने हिरासत में लेकर गहन पूछताछ किया. जिसके बाद मिली सूचना के अनुसार नागपुर में छापा मारकर वहां स 243 किलो चांदी के बिस्कुट और 29 लाख रुपए बरामद किया है. दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर डीआरआई की टीम और भी कनेक्शन की जानकारी ले रही है. जिससे इनके अन्य साथियों को भी जल्द से जल्द पकड़ा जा सके.

अखिलेश ने BJP पर बोला हमला-कृषि कानून से जमीन हड़पने की साजिश को किसान समझता है

जानकारी के अनुसार डीआरआई को उनके मुखबिर ने इन दोनों तस्करों के बारे में बताया था. मुखबिर से सूचना मिलने के बाद डीआरआई की टीम ने प्रयागराज में उन तस्करों के खिलाफ अपना जाल बिछाया. टीम को मुखबिर से प्रयागराज बस स्टैंड के पास सोने के तस्करों के आने की सूचना मिली थी. सूचना के अनुसार बस स्टैंड पर दो लोग वहां पहुंचे जिन्हें डीआरआई की टीम ने शक के आधार पर अपनी हिरासत में लिया. हिरासत में लेने के बाद उन दोनों से उनके पास सोना होने की बात पूछी तो उन दोनों ने सोना होने से इनकार कर दिया.

2 हजार रुपए के नोट अब एटीएम से नहीं निकलेंगे, जानें क्यों हुई गुलाबी नोटों की कमी

दोनों तस्करों के इनकार करने के बाद डीआरआई की टीम ने उनकी तलासी ली तो उनके जूतों से सोने के बिस्कुट मिले. हिरासत में पूछताछ के दौरान दोनों ने बताया कि उनको नागपुर से सोने के बिस्कुट भेजा गया था. तस्करों के बताए गए नागपुर के पतों पर छापाआरा गया तो वहां से टीम को बड़े पैमाने पर चांदी और लाखों रुपए बरामद हुए. डीआरआई अभी भी कई जगहों पर सर्च ऑपरेशन चला रही है. इस गिरोह के अन्य जगहों से भी टार जुड़े हुए है. वहां पर छापेमारी और धरपकड़ के लिए डीआरआई की टीमें भेजी जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें