लखनऊ जिला जेल स्टिंग ऑपरेशन में फंसे फॉर्मासिस्ट और बंदीरक्षक सस्पेंड

Smart News Team, Last updated: 06/10/2020 10:55 AM IST
  • लखनऊ जिला कारागार स्टिंग ऑपरेशन में फॉर्मासिस्ट शैलेंद्र सिंह और बंदीरक्षक सुशील फंसे थे जिसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. जेल मुख्यालय ने सोमवार रात दोनों को निलंबित करने का आदेश दिया. जेल के अन्य कई अधिकारी भी संदेह के घेरे में हैं.
लखनऊ जिला जेल स्टिंग ऑपरेशन में फंसे फॉर्मासिस्ट और बंदीरक्षक सस्पेंड

लखनऊ. लखनऊ के जिला कारागार में एक स्टिंग ऑपरेशन में फंसे फॉर्मासिस्ट शैलेंद्र सिंह और बंदीरक्षक सुशील को सस्पेंड कर दिया गया. जेल मुख्यालय ने सोमवार को आदेश जारी किया. डीजी आनंद कुमार के निर्देश पर कार्रवाई की गई. स्टिंग में लगे आरोपों में जेल के कई अधिकारियों संदेह के घेरे में आ गए हैं. जेल मुख्यालय इन अधिकारियों पर भी जल्द कार्रवाई कर सकता है.

स्टिंग ऑपरेशन में जिला जेल के फॉर्मासिस्ट शैलेंद्र सिंह ने कबूला कि जेल में बंद रसूखदार बंदियों को वह जब चाहे अस्पताल में भर्ती करवा सकता है. स्टिंग के दौरान उसने कई रसूखदार बंदियों के नाम भी लिए जो लाखों रुपए देकर कई महीने बाहर के अस्पतालों में भर्ती होकर मौज करते हैं.

दिल्ली से हाथरस जा रहे 4 संदिग्ध गिरफ्तार, PFI से है नाता, मोबाइल-लैपटॉप जब्त

स्टिंग ऑपरेशन में सस्पेंड हुए बंदीरक्षक सुशील मिश्रा ने बताया कि रिश्वत लेने के आरोप में हटे जेलर अरुण मिश्रा उनके करीबी थे. इसी कारण से जेल में चल रही कैंटीन डिप्टी जेलर के साथ बंदीरक्षक चला रहा था. 

KGMU से समान लाद जा रहा संदिग्ध ट्रक पकड़ा गया, ड्राइवर अरेस्ट, जांच कमेटी गठित

 स्टिंग के दौरान बंदीरक्षक ने यह भी कहा कि वह सुविधा शुल्क लेकर जेल में हर तरह के खानपान की सुविधा उपलब्ध करा सकता है. सस्पेंड हुए बंदीरक्षक जेल अधिकारियों की नजर में कैंटीन में कई तरह के प्रतिबंधित सामान भी बेच रहा था. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें