लखनऊ DM का आदेश- छुट्टी लेने के लिए स्वास्थकर्मियों को लेनी होगी परमिशन

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 4:01 PM IST
  • लखनऊ डीएम डा. अभिषेक प्रकाश ने आदेश जारी करते हुए कहा कि सभी स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड की ड्यूटी पर रहना अनिवार्य है. छुट्टी लेने के से स्वास्थ्यकर्मियों को इसकी परमिशन लेनी होगी. अनुमति न लेने पर सख्त कार्रवाई होगी.
लखनऊ में स्वास्थ्यकर्मियों को छुट्टी लेने से पहले परमिशन लेनी होगी. प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना फैलता ही जा रहा है. इसी बीच जिलाधिकारी डा. अभिषेक प्रकाश ने डाॅक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए आदेश जारी किया गया है. जिसके मुताबिक, कोविड की ड्यूटी के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों को छुट्टी लेने से पहले इसकी परमिशन लेनी होगी. बिना अनुमति के छुट्टी लेने वाले स्वास्थ्यकर्मी पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

लखनऊ जिलाधिकारी ने आदेश में कहा कि ये समाने आया है कई अधिकारी और प्राइवेट अस्पतालों में मेडिकल कर्मी कोविड-19 की ड्यूटी करने में अनिच्छा जता रहे हैं. वे मेडिकल सेवा को छोड़ने और ड्यूटी से बचने के लिए दूसरे उपाय अपना रहे है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोविड 19 को महामारी घोषित किया गया है. राष्ट्रीय आपदा मोचन-2006 के अंतर्गत इस महामारी के नियंत्रण के लिए आपदा के रूप में निवारण किया जा रहा है.

घर वापसी कर रहे मजदूरों की परेशानी दूर करने के लिए परिवहन विभाग ने बढ़ाई बसें

लखन डीएम डॉ. अभिषेक प्रकाश ने आदेश देते हुए कहा कि मैं सभी मेडिकल और पैरा पैरा मेडिकल कर्मी, चाहे वो प्राइवेट और सरकार अस्पताल में काम करता हो. जरूरत पड़ने पर उसे अनिवार्य रूप से उपस्थित होना होगा. किसी भी कोविड अस्पताल में काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मी को सेवा छोड़ने और छुट्टी लेने से पहले परमिशन लेनी होगी. इस आदेश के मुताबिक, अगर इसका उल्लंघन किया जाता है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

कोरोना काल में मौत भी महंगी! कब्रिस्तान में कब्र की गहराई के साथ मजदूरी भी बढ़ी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है. आपको बता दें कि बीते 24 घंटे में लखनऊ में कोरेाना के साढ़े चार हजार नए केस सामने आए हैं. वहीं लखनऊ में एक दिन में 21 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है. प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 13 हजार 604 नए मामले सामने आए हैं और 72 लोगों को कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें