कोरोना के कारण CM योगी का फैसला राज्य के बाहर नहीं जाएंगी बस,जानें कितने दिन बैन

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 11:12 AM IST
  • कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए बड़ा फैसला किया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने परिवहन विभाग के संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है की आगामी 15 दिनों तक राज्य सड़क परिवहन निगम की बसें सीमा से बाहर नहीं जाएंगी.
कोरोना के कारण CM योगी का फैसला राज्य के बाहर नहीं जाएंगी बस,जानें कितने दिन बैन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बढ़ते कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए बड़ा फैसला किया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने परिवहन विभाग के संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि आगामी 15 दिनों तक राज्य सड़क परिवहन निगम की बसें सीमा से बाहर नहीं जाएंगी. उन्होंने कहा कि अधिकारी यह व्यवस्था सुनिश्चित करें.

कोरोना संबंधित एक उच्चस्तरीय बैठक में सीएम योगी ने कोविड19 मैनेजमेंट की समीक्षा की, उसी दौरान उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रदेश की बसें 15 दिनों तक उत्तर प्रदेश की सीमा के अंदर ही चलाया जाएं.जिससे कोरोना प्रसार रोकने में मदद मिले.

विकास दुबे के खौफ की कहानी, 25 साल बाद बिकरू के लोगों ने चुना प्रधान, इनकी जीत

प्रदेश से बाहर जाने और आने वाले के लिए निगेटिव रिपोर्ट

मुख्यंत्री योगी आदित्यनाथ ने खाली हवाई मार्ग से प्रदेश में प्रवेश करने वाले यात्रियों की कोविड19 निगेटिव रिर्पोट अनिवार्य किया जाए और साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि हवाई मार्ग से प्रदेश से बाहर जाने वाले भी निगेटिव होकर ही जाएं, साथ ही रेल मार्ग से आने वाले लोगों की सूची ली जाए और उनकी स्क्रीनिंग की जाए. साथ ही मुख्यमंत्री ने भीड़भाड़ रोकने के लिए आवागमन को सीमित करने के लिए ‘होम डिलिवरी’की प्रभावी बनाने पर जोर दिया.

ऑक्सीजन नहीं मिलने पर मुंह से ही सांस देने लगी बेटियां, फिर भी नहीं बच पाई मां

जनपद स्तर पर टीम-9 का गठन किया जाए

मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना से बचाव व इलाज की व्यवस्था को और मजबूत करने के निर्देश दिए और कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए राज्य मुख्यालय पर गठित 'टीम-9' की तर्ज पर जिला स्तर पर भी टीम-9 का गठन किया जाए. बीते दिनों मुख्यमंत्री ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, मुख्‍य सचिव समेत नौ प्रमुख लोगों की 'टीम-9' गठित की जिस पर राज्‍य में कोरोना प्रबंधन की जिम्मेदारी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें