कानपुर में जीका वायरस की दस्तक से लखनऊ में भी स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, जानें जीका वायरस के लक्षण

Anurag Gupta1, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 6:56 AM IST
  • कानपुर में जीका वायरस की पुष्टि होने से लखनऊ स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है. स्वास्थ्य विभाग ने कहा हल्का भी बुखार हो तो तुरंत ले डॉक्टर से परामर्श. जीका वायरस के लक्षण बुखार के साथ शरीर में चकते पड़ना है. त्योहार में भीड़भाड़ को देखते हुए बिना मास्क बाहर न निकलने की सलाह दी है.
मच्छर के काटने से होता है जीका वायरस (फाइल फोटो)

लखनऊ. कानपुर में जीका वायरस की दस्तक से लखनऊ में भी खतरा मंडरा रहा है जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है. डॉक्टरों ने तबियत खराब होने पर तुरंत डॉक्टरी परामर्श लेने की बात कही है साथ ही यदि बुखार है तो मच्छरदानी लगाकर सोने की सलाह दी है.

राजधानी सहित कई शहर डेंगू और मलेरिया की चपेट में है ऐसे में जीका वायरस ने लोगों में दहशत पैदा कर दी है. त्योहार में लोगों का बाहर से आवागमन बढ़ा है. कानपुर से भी काफी लोग लखनऊ आए हैं. ऐसे जीका वायरस का खतरा और बढ़ गया है. स्वास्थ्य़ विभाग ने बताया कि बुखार पीड़ित यात्रियों की जांच करवाई जा रही है. इनको अपनी निगरानी में रखा जा रहा है. कोविड सेंटर से इनका नियमित हाल चाल लेने के निर्देश दिए गए हैं. जीका वायरस का लक्षण भी डेंगू की तरह होता है. किसी भी व्यक्ति को संक्रमित मच्छर के काटने से बीमारी हो सकती है.

अखिलेश के बयान के बाद यूपी में 'जिन्ना' विवाद, CM योगी ने कही ये बड़ी बात

जीका वायरस के लक्षण:

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एमके सिंह ने बताया कि जीका वायरस का लखनऊ में कोई मामला नहीं है. सभी सावधान रहने की जरूरत है. यदि बुखार से पीड़ित व्यक्ति के शरीर पर चकते नजर आए तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें. जिस मच्छर के काटने से डेंगू होता है उसी के काटने से जीका भी हो सकता है. बताया कि जीका एडीज मच्छर के काटने से होता है.

डॉ. एमके सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है इसलिए सावधान रहने की जरूरत है. त्योहार के चलते सड़कों पर भीड़ भाड़ ज्यादा है ऐसे में मास्क लगाना न भूलें. संक्रमण प्रभावी राज्य से आने वाले लोग 14 दिन का एकांतवास लें और भीड़भाड़ में जाने से बचें. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. त्योहार के मद्देनजर रोजाना 10 हजार लोगों की जांच हो रही है. बस, रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डे के अलावा हाइवे पर भी कोरोना जांच की जा रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें