UP पंचायत चुनावः राज्य निर्वाचन आयुक्त की CM योगी से मुलाकात, क्या हुई बात?

Smart News Team, Last updated: 22/03/2021 07:02 PM IST
  • यूपी पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले. निर्वाचन आयुक्त ने मुख्यमंत्री को पंचायत चुनाव की तैयारियों के बारे में बताया. उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ से समय सीमा बढ़ाने का अनुरोध किया.
पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले.

लखनऊ. यूपी पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरो से हैं. इसी बीच त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियों की प्रगति रिपोर्ट को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले. राज्य निर्वाचन आयुक्त ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांति से चुनाव करवाने के तैयारियों के बारे में बताया.

आपको बता दें कि 15 मार्च को हाईकोर्ट के आदेश के बाद नए सिरे से सारी तैयारियां की जा रही हैं. सूत्रों के मुताबिक, राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सिर्फ तीन हफ्तों के सीमित समय में पंचायत चुनाव करवाने में आ रही परेशानी को बताया है. राज्य निर्वाचन आयुक्त ने मुख्यमंत्री से चुनाव को सुचारू रूप से करवाने के लिए समय सीमा को बढ़ाने का अनुरोध किया है.

यूपी में कोरोना का दूसरा टीका लगवाने के बाद कोविड पॉजिटिव निकला सरकारी डॉक्टर

आपको बता दें कि आरक्षण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद प्रदेश सरकार ही चुनाव ही पहली अधिसूचना जारी करती है. राज्य निर्वाचन आयोग को चुनाव कराने के लिए परामर्श दिया जाता है. हाईकोर्ट के आदेश के बाद आरक्षण प्रक्रिया शुरू हो गई है. सीटों के आवंटन के बाद पहली सूची का प्रकाशन होगा. उस पर आने वाले निस्तारण को 27 मार्च तक पूरा किया जाना है. बीच में होली का त्यौहार है, इससे चुनाव आयोग के पास चुनाव कराने के लिए समय बहुत कम है. 

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच CM योगी की बैठक, हो सकता है बड़ा फैसला

मिली जानकारी के अनुसार, निर्वाचन आयोग को 24 अप्रैल से शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षा से पहले किसी भी हालत में पंचायत चुनाव कराने हैं. ऐसे में ग्राम प्रधान, ग्राम, क्षेत्र और जिला पंचायत सदस्य के चार पदों के चुनाव करवाने के लिए समय बहुत कम है. इसी को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त ने सीएम योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें