ED निदेशक राजेश्वर सिंह का VRS मंजूर, BJP इस सीट से बना सकती है उम्मीदवार

Komal Sultaniya, Last updated: Tue, 1st Feb 2022, 3:54 PM IST
  • उत्तर प्रदेश में नौकरी छोड़कर राजनीति की राह पर कदम बढ़ाने वाले अधिकारियों की सूची में राजेश्वर सिंह का नाम भी जुड़ गया है. प्रवर्तन निदेशालय लखनऊ के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह ने सोमवार को अपना वीआरएस आवेदन स्वीकृत होने के बाद ट्वीट कर इसकी घोषणा भी कर दी. लिखा है कि अब मैं राजनीति के क्षेत्र में पदार्पण करना चाहता हूं.
ED निदेशक राजेश्वर सिंह का VRS मंजूर, BJP इस सीट से बना सकती है उम्मीदवार

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में नौकरी छोड़कर राजनीति की राह पर कदम बढ़ाने वाले अधिकारियों की सूची में राजेश्वर सिंह का नाम भी जुड़ गया है. प्रवर्तन निदेशालय लखनऊ के संयुक्त निदेशक राजेश्वर सिंह ने सोमवार को अपना वीआरएस आवेदन स्वीकृत होने के बाद ट्वीट कर इसकी घोषणा भी कर दी. लिखा है कि अब मैं राजनीति के क्षेत्र में पदार्पण करना चाहता हूं. अपने संदेश में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताया है.

उन्होंने कहा कि 24 वर्षों का कारवां एक पड़ाव पर आज रुका है. दस वर्ष यूपी पुलिस में नौकरी करने और 14 वर्ष ईडी में सेवा देने के बाद अब संन्यास ले रहा हूं. वह वर्ष 2007 में ईडी में प्रतिनियुक्ति पर चले गए थे. वहां उन्होंने कई अहम घोटाले की जांच की. इसमें 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाला, अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील, एयरटेल मैक्सिस घोटाला, आम्रपाली घोटाला, नोएडा पोंजी स्कीम घोटाला, गोमती रिवर फ्रंट घोटाला आदि शामिल है. उन्होंने आगे कहा कि ईडी में तैनाती के दौरान घोटालेबाज नेताओं, नौकरशाहों, बाहुबलियों और माफिया से उनकी अवैध कमाई से अर्जित 4000 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्तियों को जब्त किया. 

ED के ज्वाइंट डायरेक्टर राजेश्वर सिंह का VRS स्वीकार, साहिबाबाद से लड़ेंगे चुनाव !

मालूम हो कि, राजेश्वर सिंह पांच साल के लिए प्रतिनियुक्ति पर प्रवर्तन निदेशालय गए थे. पहले उन्हें दो साल का विस्तार दिया गया इसके बाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ईडी में ही स्थायी हो गए. वर्तमान में वह बतौर संयुक्त निदेशक लखनऊ जोन का काम देख रहे थे. उन्होंने अपने संदेश में भाजपा के शीर्ष नेताओं का जिक्र करते हुए लिखा है कि भारत को विश्व शक्ति और विश्व गुरु बनाने का जो संकल्प लिया है, उसका मैं भी भागीदार बनना और राष्ट्र निर्माण में योगदान देना चाहता हूं.

UP Assembly Election Congress First List of Candidates: पिंडरा से अजय राय और रोहनिया से राजेश्वर प्रत्याशी

राजेश्वर सिंह 1996 में पीपीएस अधिकारी चुने गए थे. सीओ के पद पर रहते उनकी छवि एनकाउंटर स्पेशलिस्ट की बनी. इसके बाद 2009 में वह ईडी में चले गए. उनके परिवार और रिश्तेदारों में कई अधिकारी हैं. पत्नी लक्ष्मी सिंह लखनऊ रेंज की आईजी हैं. बहनोई राजीव कृष्ण एडीजी आगरा जोन हैं. एक और बहनोई वाईपी सिंह आईपीएस रहे, उन्होंने भी वीआरएस लिया था। एक भाई और एक बहन आयकर में अधिकारी हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें