ED ने किया IFS के पति पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज, करोडों रुपए ठगने का आरोप

Smart News Team, Last updated: Fri, 19th Mar 2021, 10:37 PM IST
  • लखनऊ की अनि बुलियन कंपनी के प्रबंधन निदेशक और आईएफएस अधिकारी निहारिका सिंह के पति अजीत कुमार गुप्ता के खिलाफ ईडी ने केस दर्ज किया. अजीत पर आरोप है कि उन्होंने निवेशकों को झांसा देकर उनसे करोड़ों रुपए ठगे है.
ईडी ने आईएफएस अधिकारी निहारिका सिंह के पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया. प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ. धोखाधड़ी करके निवेशकों को ठगने के मामले में ईडी ने शुक्रवार को आईएफएस निहारिका सिंह के पति अजीत कुमार समेत कई लोगों पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज कर लिया है. कई राज्यों में दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर ईडी ने जांच शुरू कर दी है. अजीत गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने निवेशकों से करोडों रुपए की ठगी की है.

इस मामले में ईडी कंपनी और उसके निदेशकों की चल-अचल संपत्तियों को चिन्हित कर रही है. केस में ईडी ने आरोप लगाया है कि मेसर्स एनी बुलियन इंडस्टीज प्राइवेट लिमिटेड और अन्य संबद्ध कंपनियों का गठन निवेशकों को धोखा देने के लिए किया गया था. पुलिस ने ठगी के आरोप में अजीत कुमार गुप्ता को जुलाई 2020 में गिरफ्तार किया था.

कोयला घोटाला केस: हाईकोर्ट ने अभियुक्तों की 23 याचिकाएं खारिज की

मिली जानकारी के अजीत कुमार खिलाफ उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में मामला दर्ज है. जिसमें निहारिका सिंह का नाम है. निवेशकों ने आरोप लगाया था कि अजीत और उनके साथी लोगों को झांसा देने के लिए उप राष्टपति, प्रधानमंत्री और राजनेताओं के कार्यक्रमों में निहारिका सिंह की मौजूदगी दिखाते थे. अजीत निवेशकों को 40 फीसदी लाभ देने का झांसा देते थे.

यूपी पंचायत चुनाव को निष्पक्ष और शांति से कराने की DM-SP की जिम्मेदारी: EC

अजीत कुमार गुप्ता ने लोगों को झांसा देकर मेसर्स एनी बुलियन टेडर्स, एनी कमोडिटी ब्रोकर्स प्राइवेट लिमिटेड और आई विजन इंडियाक क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी में निवेश कराया. कई गुना रिटर्न देने का वायदा किया. निवेशकों को कंपनी के नाम पर फर्जी दस्तावेज दिखाए. बाद में न तो निवेशकों के पैसे दिए गए और न ही प्लॉट दिए गए. दबाव बनाने पर निवेशकों को समझाने के लिए पोस्ट डेटेड चेक जारी किए गए. ये चेक बैंक में जमा करने पर बाउंस हो गए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें