मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति पर ED का शिकंजा

Smart News Team, Last updated: Thu, 11th Feb 2021, 12:40 PM IST
  • मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) गायत्री प्रजापति पर अपना शिकंजा कसती जा रही है. लखनऊ की एक अदालत ने मनीलांड्रिंग के एक मामले में गायत्री प्रजापति को 7 दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया है.
पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति

लखनऊ: जेल में बंद पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. मनी लांड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) गायत्री प्रजापति पर अपना शिकंजा कसती जा रही है. बता दें, लखनऊ की एक अदालत ने मनीलांड्रिंग के एक मामले में गायत्री प्रजापति को 7 दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया है. गायत्री की हिरासत 11 फरवरी की सुबह 10 बजे से शुरु होगी. जिला न्यायाधीश (तृतीय) दिनेश कुमार शर्मा ने यह आदेश ईडी की अर्जी को मंजूर करते हुए दिया.

आपको बता दें कि बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय के विशेष वकील कुलदीप श्रीवास्तव ने अर्जी पर बहस की. इस दौरान उन्होंने बताया कि ईडी को गायत्री प्रजापति से शुरुआती पूछताछ में 2 करोड़ 98 लाख रुपए अधिक संपत्ति का पता चला है. लेकिन गायत्री जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. ईडी ने बताया कि गायत्री के बहुत सारे फर्म हैं. जिसमें करोड़ों रुपए का निवेश किया गया है. इन फर्मों का निदेशक गायत्री प्रजापति का बेटा अनिल प्रजापति है.

लखनऊ: रियल एस्टेट कंपनी ने तीन सैन्य अधिकारियों से की धोखाधड़ी

ईडी को गायत्री प्रजापति की करोड़ों की संपत्ति गोवा, अमेठी व लोनावला में होने की जानकारी मिली है. जिसको लेकर गायत्री से पूछताछ जरूरी है. लिहाजा कोर्ट गायत्री की 10 दिन के लिए पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर करे. इसके बाद कोर्ट ने गायत्री प्रजापति को 7 दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया. गौरतलब है कि 26 अक्टूबर, 2020 को विजिलेंस ने गायत्री के खिलाफ आय से अधिक संपति का मामला दर्ज किया था. जिसके बाद 14 जनवरी,2021 को इसी आधार पर प्रवर्तन निदेशालय ने भी जांच शुरु की थी.

सिंगापुर में नौकरी दिलवाने के नाम पर दंपती ने 17 लोगों से की 7.50 लाख की ठगी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें