यूपी चुनाव 2022: नामांकन से पहले प्रत्याशियों को खुलवाना होगा नया बैंक अकाउंट

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Sun, 19th Dec 2021, 7:30 AM IST
  • केन्द्रीय चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव 2022 में शामिल होने जा रहे सभी प्रत्याशियों को नामांकन के समय नए बैंक खाता का डिटेल अपने निर्वाचन क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर को लिखित में देने को कहा है. ऐसा न करने वाले सभी प्रत्याशियों के नाम रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा नोटिस जारी किया जाएगा.
केन्द्रीय चुनाव आयोग

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव 2022 के चुनावी मैदान में उम्मीदवार के तौर पर नामांकन करने वाले हर एक कैंडिडेट को चुनाव खर्च के लिए अलग से नया बैंक खाता खोलवाना होगा. इस बारे में केन्द्रीय चुनाव आयोग की तरफ से जरूरी दिशा निर्देश जारी किया गया हैं. आयोग ने अपने आदेश में कहा है कि ऐसे उम्मीदवारों द्वारा पर्चा दाखिल करते समय अपने इस बैंक खाते की डिटेल उस निर्वाचन क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर (सामान्यतः जिले का डीएम) को लिखित में देना होगा. साथ ही ये भी कहा है कि जिस भी निर्वाचन क्षेत्र के प्रत्याशियों (उम्मीदवारों) ने अपना बैंक खाता नहीं खोला होगा या विधायक पद के दावेदार उम्मीदवारों द्वारा बैंक खाता संख्या की डिटेल नहीं दी गयी होगी, ऐसे सभी प्रत्याशियों के नाम रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा नोटिस जारी किया जाएगा.

चुनाव आयोग ने कहा है कि चुनावी खर्च के मकसद से बैंक खाता या तो उम्मीदवार के नाम से या फिर उसके चुनाव एजेण्ट के साथ संयुक्त रूप से खोले जा सकेंगे. बैंक खाता उम्मीदवार के परिवार के किसी सदस्य या किसी अन्य व्यक्ति के नाम से नहीं खोला जा सकेगा. विधान सभा चुनाव में दावेदार प्रत्याशी द्वारा इस मकसद से बैंक खाता राज्य में कहीं भी खोला जा सकता है. यह खाता सहकारी बैंक या फिर किसी भी बैंक, पोस्टऑफिस बैंक में खोला जा सकते है. प्रत्याशी के पहले से खुले हुए बैंक खाते को चुनावी खर्च के मकसद के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा.

पीएम नरेंद्र मोदी बोले- UP+YOGI, बहुत हैं उपयोगी

चुनाव आयोग ने विधान सभा चुनाव 2022 के सभी प्रत्याशियों द्वारा किए जाने वाले सभी चुनावी खर्च को केवल इसी बैंक खाते से ही किए जाने के आदेश दिए हैं. निधि समेत चुनावी कार्य संबंधी सभी खर्च प्रत्याशियों द्वारा इसी नए वाले बैंक खाते में डाले जाएंगे. इस चुनाव में शामिल होने जा रहे सभी प्रत्याशियों को नया खाता खुलवाने के साथ साथ इस बार चुनाव में खर्च किए गए सभी ब्योरे को रिजल्ट घोषित होने की तारीख से 30 दिन के भीतर दाखिल बैंक खाते की स्वप्रमाणित कापी और चुनावी मकसद से खर्च की गई पूरी डिटेल जिला निर्वाचन अधिकारी (डीेएम) के सामने पेश  की करनी होगी.आयोग ने सभी प्रत्याशियों को इस खाते से केवल 20 बीस हजार रूपए कैश रकम चुनावी खर्च करने की सीमा तय की है, बाकी इसके ऊपर की सभी लेन-देन प्रत्याशियों द्वारा चेक/ड्राफ्ट या RTGS/NEFT के जरिए भुगतान करने को कहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें