लखनऊ, वाराणसी समेत कई जिलों में 5 अक्टूबर से चलेंगी 100 ई-बसें, PM मोदी हरी झंडी दिखा करेंगे रवाना

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Sun, 3rd Oct 2021, 7:13 PM IST
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 5 अक्टूबर को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान से 100 नई इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाकर उनके गंतव्य स्थल के लिए रवाना करेंगे. प्रथम चरण में प्रदूषण व ध्वनि मुक्त ये ई-बसें लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर, कानपुर, झांसी, गाजियाबाद और अन्य शहरों की सड़को पर दौड़ेगी. 
5 अक्टूबर को लखनऊ स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान से पीएम मोदी करेंगे ईलेक्ट्रानिक बस का लोकार्पण (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लखनऊ के गोमतीनगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान से 5 अक्टूबर को 100 नई इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाकर उनके गंतव्य स्थल के लिए रवाना करेंगे. फिर प्रदूषण और ध्वनि मुक्त ये ई-बसें राजधानी समेत 7 अन्य प्रमुख शहरो की सड़को पर दौड़ने लगेगी. पीएम के लोकार्पण के बाद ये 100 बसें अपने-अपने शहर की ओर चली जाएगी. प्रथम चरण में लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर, कानपुर, झांसी, गाजियाबाद और अन्य शहरों में लोगों को सेवा देगी.

बताया जा रहा है कि तेजी से बढ़ रहे प्रदूषण के दौर में ये ई-बसें प्रदूषण मुक्त होंगी. ध्वनि प्रदूषण के लिहाज से भी ये मुक्त होगी. बेआवाज होने के साथ-साथ सुगम और वातानुकूलित(AC) ये बसें यात्रियों के लिए बेहद आरामदायक सफर कराएगी. यात्रियों की सुरक्षा के लिए इन बसों में सीसीटीवी कैमरा, पैनिक बटन लगायी गयी है. एडजस्टेबल सीटों के साथ से बसें और हीं खास होने वाली है.  आग बुझाने के लिए इसमें फायर उपकरण भी मौजूद होंगें. यात्रियों को रास्तों से बारे में व गतव्य स्थल के बारे में जानकारी डेस्टिनेशन बोर्ड से मिल पाएगी. इन बसों को चार्ज होने में ढाई घंटे की बजाय 45 मिनट का समय लगेगा. एक बार फुल चार्ज होने के बाद ये बसें 80 किलोमीटर की बजाय 120 किलोमीटर का सफर कराएगी. इन बसों के चार्जिंग की व्यवस्था शहर के अलग-अलग जगहों पर की जाएगी.

लखीमपुर खीरी में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर चढ़ी BJP नेता के काफिले की गाड़ी, बवाल, आगजनी

राजधानी लखनऊ के शहरी इलाको में पांच जगह पर ई-बसों को चार्ज करने की व्यवस्था की गई है. जिनमें से दुबग्गा, पी-4 पार्किंग, राजाजीपुरम, विराजखंड गोमतीनगर और रामराम बैंक चौराहा शामिल है. मिली जानकारी के मुताबिक लखनऊ में कुल दस रूटों पर ई-बसों का परीक्षण किया जाएगा.

आने वाले दिनों में लखनऊ के लिए और बसें आएंगी. उसे मिलाकर लखनऊ की सड़को पर एक जैसी 100 ईं-बसें चलेंगी. प्रदेश के बाकी 13 जिलों के लिए 600 बसें संचालित किए जाने की योजना है.प्रत्येक इलेक्ट्रिक एसी बस की कीमत करीब 45 लाख रुपया बतायी जा रही है. कानपुर में 100, आगरा में 100, प्रयागराज में 50, वाराणसी में 50, मेरठ में 50, मथुरा-वृंदावन में 50, गाजियाबाद में 50 ई-बसें चलाए जाने हैं इसके आलावा गोरखपुर में 25, शाहजहांपुर में 25, मुरादाबाद में 25, बरेली में 25, अलीगढ़ में 25, झांसी में भी 25 ई- बसें चलाए जाएंगें.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें