देश के सेवायोजन कार्यालय जुड़ेंगे एक साथ, UP में बेरोजगारों को मिल सकेगी नौकरी

Smart News Team, Last updated: Thu, 4th Feb 2021, 3:04 PM IST
डिजिटल इंडिया के तहत देशभर के सेवायोजन कार्यालय एक साथ जुड़ जाएंगे.राजधानी सहित राज्य के 92 और देश के 956 सेवायोजन कार्यालयों को इससे लिंक किया जाएगा. इससे बेरोजगारों को नौकरी के अधिक अवसर मिलेंगे.
देशभर के सेवायोजन कार्यालय जुड़ने से युवाओं को नौकरियों के अधिक अवसर मिलेंगे

लखनऊ. अब देशभर के सेवायोजन कार्यालय एक साथ जुड़ जाएंगे.केंद्र सरकार की पहल पर डिजिटल इंडिया के तहत इन कार्यालयों को जोड़ने की तैयारी शुरू कर दी गई है. राजधानी सहित राज्य के 92 और देश के 956 सेवायोजन कार्यालयों को इससे लिंक किया जाएगा. इससे बेरोजगारों को नौकरी के अधिक अवसर मिलेंगे और कंपनियों को भी युवाओं के चयन में आसानी होगी.

आपको बता दें कि केंद्रीय श्रम एवं रोजगार विभाग की तरफ से नेशनल करियर सर्विस (एनसीएस) का गठन किया गया है. इसका उद्देश्य अधिक से अधिक कंपनियों को एक साथ जोड़ना और देश में कहीं भी रहने वाले बेरोजगारों को रोजगार की जानकारी हो सके. प्रदेश के सभी 92 सेवायोजन कार्यालयों को एनसीएस से जोड़ने की तैयारी पिछले साल से शुरू हुई थी. अब यह कार्य अंतिम चरण में पहुंच चुका है.

प्रदेश की जनता को अब बाढ़ से परेशान होने की जरूरत नहीं- सीएम योगी

राजधानी में लालबाग के क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय को जोड़ने की प्रक्रिया पूरी हो गई है. एनसीएस से जुड़ने से प्रदेश में पंजीकृत 70 लाख से अधिक बेरोजगारों को एक साथ नौकरी के अवसर मिल पाएंगे. साथ ही सेवायोजन के वेबपोर्टल पर पंजीकृत संस्थाएं योग्य बेरोजगारों से सीधे संपर्क कर उनका साक्षात्कार लेकर नौकरी दें सकेंगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें