EPFO: अब यूपी में मनरेगा कार्मिकों का ब्लॉक लेवल पर जमा होगा EPF

ABHINAV AZAD, Last updated: Fri, 19th Nov 2021, 11:00 AM IST
  • उत्तर प्रदेश के 42 हजार मनरेगा कार्मिक अब कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) के पैसे जिला मुख्यालयों की जगह विकासखंड स्तर पर जमा करा सकेंगे. सरकार के इस फैसले के बाद अब समय और पैसे दोनों की बचत होगी.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. मनरेगा कार्मिकों के लिए अच्छी खबर है. दरअसल, सरकार ने मनरेगा कार्मिकों को कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) के पैसे नियमित जमा कराने में राहत दी है. सरकार के इस फैसले के बाद अब जिला मुख्यालयों की जगह विकासखंड स्तर पर मानदेय से कटौती और सरकार की ओर से दी जा रही धनराशि जमा की जा सकेगी. ब्लॉकों में कर्मचारी कम होने से यह काम आसानी से पूरा होगा. फिलहाल, उत्तर प्रदेश में मनरेगा के तहत तकरीबन 42 हजार से अधिक कार्मिक तैनात हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि विकासखंड स्तर पर ही अब ईपीएफ जमा कराया जाए. इससे समय पर और धनराशि आसानी से जमा हो सकेगी. वे मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित करें कि उनकी अध्यक्षता में सभी कार्यक्रम अधिकारी, बैंक और ईपीएफओ के अधिकारी बैठक करें, ताकि योजना बनाकर सभी विकासखंडों को धन जमा करने के लिए लागइन पासवर्ड और इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा दी जाए. इस बात की जानकारी अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार ने दी. उन्होंने कहा कि ईपीएफ जमा न होने की जिम्मेदारी उपायुक्त श्रम रोजगार, खंड विकास अधिकारी, संबंधित लेखाकार और अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी की होगी.

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर मेगा शो के दौरान गरजे अखिलेश, कहा- BJP नाम बदलने वाली सरकार

अपर आयुक्त मनरेगा योगेश कुमार ने बताया कि उपायुक्त श्रम रोजगार इसकी माहवार समीक्षा करेंगे. साथ ही अपर आयुक्त ने आदेश दिया है कि जब तक पूरी व्यवस्था न हो जाए तब तक पहले की तरह ईपीएफ कटौती करके जमा कराई जाए. उनके मानदेय के अनुसार ईपीएफ धनराशि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन में हर माह जमा किए जाने का नियम है. जिला मुख्यालयों पर कार्मिकों की संख्या अधिक होने से तय समय में सभी की धनराशि जमा नहीं हो पा रही थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें