UP पूर्व सीएम कल्याण सिंह कोरोना पॉजिटिव, एसजीपीजीआई में भर्ती

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 11:22 AM IST
  • यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को कोरोना संक्रमित होने के बाद लखनऊ के एसजीपीजीआई में सोमवार शाम को भर्ती कराया गया है.राज्य में सोमवार को 5208 नए कोरोना संक्रमण के मामले आए और इस दौरान कोरोना से 62 लोगों की मौत हुई.
यूपी पूर्व सीएम कल्याण सिंह कोरोना पॉजिटिव.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. जिसके बाद उन्हें लखनऊ के संजय गांधी पीजीआई (एसजीपीजीआई) में भर्ती करवाया गया है. एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो आरके धीमान ने कहा कि कल्याण सिंह की हालत अभी स्थिर है.

यूपी में इससे पहले भी कई योगी सरकार के मंत्री कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं. जिसमें कि कारागार मंत्री जय कुमार जैकी जो कि चार दिन पहले ही कोरोना पाॅजिटिव पाए गए. उससे पहले जो कोरोना संक्रमित मंत्री मिले हैं. उनके नाम है पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी , सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग कोविड पॉजिटिव पाए गए थे.

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह ,विधि और न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक, जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह, आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धरम सिंह सैनी, खेल और युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी को भी कोरोना ने अपनी चपेट में लिया है. योगी सरकार में ही होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान और प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमला रानी की कोरोना वायरस से अपनी जान गंवानी पड़ी थी. 

CM योगी का आदेश ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर सख्ती से लगे रोक, 48 घंटे का बैकअप रखें

सोमवार को राज्य में 5208 नए कोरोना संक्रमण के मामले आए जबकि इस दौरान कोरोना से 62 लोगों की मौत भी हुई है. इससे कुल मामलों की संख्या 3.17,195 पहुंच गई जिसमें कि 67,287 एक्टिव मामले हैं. प्रदेश में कोरोना के मामलों थोड़े कम हुए पर अभी भी चिंता की बात है.  

CM योगी का आदेश- छत्रपति शिवाजी के नाम पर हो आगरा के मुगल म्यूजियम का नाम

रविवार को 6239 नए मामले आए थे. शनिवार को 6085 जबकि शुक्रवार को 7103 और कल 5208 ने कोरोना पाॅजिटिव मिले जिससे कि मामले तो कम हुए पर अभी भी सावधानी बरतने की जरूरत है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें